ताज़ा खबर
 

चेन्‍नई: सेक्‍स रैकेट्स में पकड़े गए दो पुलिस इंस्‍पेक्‍टर, धंधे से की लाखों की कमाई

पुलिस कमिश्नर एकके विश्वनाथन के मुताबिक खुफिया जानकारी के आधार पर दोनों के खिलाफ जांच टीम का गठन किया गया।

इस तस्वीर का इस्तेमाल खबर के प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है।

चेन्नई में चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहां अपराध मिटाने वाले दो पुलिस इंस्पेक्टर ही अपराध में लिप्त पाए गए हैं। मामले की जांच कर रहे अधिकारियों ने मंगलवार (15 मई, 2018) को दोनों के सेक्स रैकेट्स में लिप्त होने की पुष्टि की है। आरोप है कि दोनों ने चेन्नई पुलिस एंटी वाइस स्कॉड (AVS) में रहते इस धंधे को चलाया और इसका विस्तार किया। जांच में सामने आया कि इंस्पेक्टर साम वाइसेंट और एम सारावनन AVS ने अपने कार्यकाल के दौरान दलालों के साथ मिलकर लाखों रुपए कमाए। पुलिस कमिश्नर एकके विश्वनाथन के मुताबिक खुफिया जानकारी के आधार पर दोनों के खिलाफ जांच टीम का गठन किया गया। रिपोर्ट के मुताबिक दोनों पर मसाज पार्लर और जिस्म फरोशी के धंधे में लिप्त थे। इसके इसके लिए एक वकील को भी हायर किया, अलग जिस्मफरोशी का धंधा चलाने के लिए दलालों को हायर किया था। रिपोर्ट के मुताबिक इनमें से एक जगह जिस्म फरोशी का धंदा शहरी इलाके में चल रहा था जबकि छोटे शहरों में भी इसका संचालन हो रहा था।

दोनों पुलिस इंस्पेक्टर के खिलाफ मिली जांच रिपोर्ट के आधार पर कमिश्नर एकके विश्वनाथन मंगलवार को दोनों को AVS से निकाले का फैसला लिया है। उन्होंने बताया कि कोट्टूरपुरम इंस्पेक्टर महालक्ष्मी और इंटेलीजेंस विंग की इंस्पेक्टर शानमुगावेलन को दोनों के स्थान पर तैनात किया गया है। खबर के मुताबिक विभाग ने पिछले मामले से सबक लेते हुए पुलिस अधिकारियों का रूटीन ट्रांसफर का फैसला लिया है। इसके साथ ही 13 पुलिस अधिकारियों के ट्रांसफर की भी घोषणा की गई है।

ट्रांसफर किए पुलिस अधिकारियों में अब इंस्पेक्टर पद्मावती कुदुनगैरुर क्राइम विंग की इंचार्ज होंगी। जोटिलालक्ष्मी को एमकेबी नगर (कानून व्यवस्था) का इंचार्ज बनाया गया है। इंस्पेक्टर तिरिपुरासुंदरी और इंस्पेक्टर जयाभारती को सेंट्रल क्राइम ब्रांच (सीसीबी) भेजा गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App