ताज़ा खबर
 

RK Nagar By Election: चुनावी नॉमिनेशन कैंसल होने पर एक्टर ने मोदी और कोविंद से मांगी मदद, बीजेपी लीडर से लिया था पंगा

RK Nagar By Election/Chunav 2017: विशाल इससे पहले तमिल की बहुचर्चित फिल्म मर्सल को लेकर चर्चाओं में आए थे। तब उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेता एच राजा की तीखी आलोचना की थी।
तमिल सुपरस्टार विशाल।

तमिलनाडु की वीआईपी आरके नगर सीट से चुनावी नॉमिनेशन कैंसल होने पर तमिल फिल्म स्टार विशाल ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद मांगी है। बुधवार (6 दिसंबर) को ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा, ‘मैं विशाल…आशा है कि चेन्नई में आरके नगर सीट की चुनाव प्रक्रिया के बारे में आप जागरूक हैं। मेरा नॉमिनेशन स्वीकार किया गया था लेकिन बाद में रिजेक्ट कर दिया गया। यह पूरी तरह से अन्यायपूर्ण है। मैं इसे आपके संज्ञान में लाया हूं। मुझे आशा है कि न्याय मिलेगा।’ वहीं नॉमिनेशन कैंसल होने के बाद एक्टर विशाल ने सूबे के मुख्य चुनाव अधिकारी से बुधवार को मुलाकात की। जहां नॉमिनेशन पर दोबारा विचार के लिए दोनों के बीच तीखी नोकझोंक हुई। उन्होंने तमिलनाडु के राज्यपाल को इस मामले से अवगत कराने की भी योजना बनाई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विशाल के नॉमिनेशल पेपर पर आठ वैध हस्ताक्षर थे जबकि कानूनी तौर पर ये संख्या दस होनी चाहिए थी। दो हस्ताक्षर वैध नहीं पाए गए। इससे उनका नॉमिनेशन कैंसल कर दिया गया था।

विशाल इससे पहले तमिल की बहुचर्चित फिल्म मर्सल को लेकर चर्चाओं में आए थे। तब उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेता एच राजा की तीखी आलोचना की थी। इस घटना के अगले ही दिन विशाल के प्रोडक्शन हाउस पर जीएसटी की इंटेलिजेंस टीम का छापा पड़ा था। तब रेड मारने वाले अधिकारियों ने मीडिया को बताया था कि उन्हें रिकॉर्ड में अनियमितता की खबर मिली थी। रेड मारने वाली टीम के अनुसार एक फिल्म प्रोड्यूसर और वितरक होने के नाते विशाल के प्रोडक्शन हाउस के आबाकरी रिकॉर्ड की जांच की जा रही है। रेड मारने वाले अधिकारियों ने ये भी कहा था कि इससे पहले वो रजनीकांत की फिल्म 2.0 बनाने वाले लायका प्रोडक्शन के यहां भी छापा मार चुके हैं।

आपको बता दें कि विशाल तमिल फिल्म निर्माता परिषद के अध्यक्ष भी हैं। तमिल फिल्म मर्सल को लेकर उठे विवाद में विशाल ने बीजेपी नेता एच राजा पर आरोप लगाया था कि उन्होंने मर्सल को ऑनलाइन देख पाइरेसी को प्रमोट किया है। विशाल ने बीजेपी नेता को मर्सल के फिल्म निर्माताओं से माफी मांगने की हिदायत भी दी थी। हालांकि एच राजा ने अपनी सफाई में कहा था कि उनके पास इतना फालतू वक्त नहीं है कि वो हॉल में तीन घंटे बैठ कर फिल्म देखें। राजा ने कहा कि मैंने मर्सल फिल्म के सिर्फ विवादित क्लिप को अपने मोबाइल पर देखा था।

गौरतलब है कि मर्सल के एक डायलॉग में जीएसटी का जिक्र किया गया है और इसी कारण यह फिल्म विवादों से घिर गई थी। भाजपा का कहना था कि फिल्म में सरकार की नीति को गलत तरह से पेश किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.