Jayalalithaa laid to rest, it is Sasikala and her family all around her in Funeral Procession - शशिकला ने ही किया जयललिता का अंतिम संस्‍कार, जानिए कैसे सगे से भी गहरा हो गया था दोनों का रिश्‍ता - Jansatta
ताज़ा खबर
 

शशिकला ने ही किया जयललिता का अंतिम संस्‍कार, जानिए कैसे सगे से भी गहरा हो गया था दोनों का रिश्‍ता

शशिकला और उनके परिवार के अन्‍य सदस्‍य ही जयललिता के नजदीक थे।

जयललिता का अंतिम संस्‍कार मरीना बीच पर किया गया। (PTI Photo)

जयललिता के राजनीतिक सफर के दौरान उनका साया बनकर रहीं शशिकला ने अंतिम यात्रा में भी जया का साथ नहीं छोड़ा। वे और उनका पूरा परिवार जयललिता के निधन के बाद चेन्‍नाई के राजाजी हॉल में अम्‍मा के पार्थिव शरीर के आस-पास नजर आया। शशिकला, इलावारासी, इलावारासी के बेटे विवेक, दीवहरन, जय आनंद (दीवहरन के बेटे), डॉ वेंकटेश और डाॅ शिवकुमार ने जयललिता के अंतिम संस्‍कार में हिस्‍सा लिया। मन्‍नारगुर्दी परिवार के कई अन्‍य सदस्‍य भी मनीरा बीच पर जयललिता के अंतिम संस्‍कार में मौजूद रहे। डॉ शिवकुमार ने जयललिता के अंतिम दिनों में उनके इलाज पर नजर बनाए रखी थी। जब एमजीआर की अंतिम यात्रा निकली थी, तो जयललिता और एमजीआर की पत्‍नी जानकी के बीच का झगड़ा खुलकर सामने आ गया था। तब अंतिम जुलूस के दौरान जयललिता ने जब एमजीआर के साथ रहने की कोशिश की, तो उनकी बेइज्‍जती की गई। मगर मंगलवार को उनकी अंतिम यात्रा के दौरान शश‍िकला का परिवार ही नजर आया।

अपने आखिरी दिनों में जयललिता अपने परिवार के सदस्‍यों से नहीं जुड़ी रहीं। उनके परिवार के ज्‍यादातर सदस्‍यों के बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है। शशिकला और उनके परिवार के अन्‍य सदस्‍य ही जयललिता के नजदीक थे। जयललिता की भतीजी दीपा को भी अपोलो हॉस्पिटल में इलाज के दौरान घुसने की इजाजत नहीं दी गई थी। हालांकि मंगलवार को दीपा, राजाजी हॉल में जयल‍लिता के अंतिम दर्शन करने में कामयाब रहीं।

शशिकला का जन्‍म 1957 में हुआ था। उनके चार भाई और एक बहन थी। उनका परिवार रईस नहीं था, मगर वे प्रभावी कल्‍लर समुदाय से आते हैं। शशिकला के पति नटराजन एक सरकारी अधिकारी थे। उन्‍होंने अपनी पत्‍नी को जयललिता से मिलवाया। शशिकला एक वीडियो-टेप दुकान चलाती थीं और वह जयललिता द्वारा अटेंड की जाने वाली शादियों की रिकार्डिंग करती थीं। जल्‍द ही वह जयललिता के करीबी लोगों में शुमार हो गईं। जैसे-जैसे जयललिता और शशिकला की दोस्‍ती पनपी, उनके पति और परिवार की आर्थिक स्‍थि‍ति सुधरती गई।

चेन्‍नई के अपोलो हॉस्पिटल में सोमवार (5 दिसंबर) की रात 11.30 बजे ‘अम्‍मा’ ने दुनिया को अलविदा कहा। जयललिता का पार्थिव शरीर राजाजी हॉल में अंतिम दर्शन हेतु रखा गया था। जहां लाखों की संख्‍या में समर्थकों ने अपनी प्रिय नेत्री को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि दी।

जयललिता के निधन से जुड़ी सभी खबरें क्लिक करें पढ़ें

वीडियो: अभिनेत्री से तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनने तक जयललिता का सफर

वीडियो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता को श्रद्धांजलि

वीडियो: तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता का निधन, सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा; पन्नीरसेल्वम बने नए मुख्यमंत्री

वीडियो: जे. जयललिता के निधन पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत कई राजनेताओं ने जताया शोक

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App