ताज़ा खबर
 

भाजपा महासचिव ने किया हाई कोर्ट का अपमान, पुलिस से कहा- तुम लोग हिन्‍दू विरोधी हो

एच. राजा ने इससे पहले त्रिपुरा के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत के बाद तमिलनाडु में पेरियार की मूर्ति तोड़ने की अपील की थी। ये अपील उन्होंने त्रिपुरा में व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति तोड़े जाने के बाद ​की थी।राजा ने इस संबंध में एक विवादित पोस्ट भी लिखा था।

पुलिस से बहस करते हुए भाजपा नेता एच. राजा। फोटो- ANI

तमिलनाडु के भाजपा नेता एच. राजा एक बार फिर से अपने विवादित बयान के कारण सुर्खियों में हैं। ​तमिलनाडु में सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील जिले में गणेश चतुर्थी की यात्रा निकालने को लेकर एच. राजा का विवाद राज्य पुलिस से हो गया। एच. राजा की इस मुद्दे पर पुलिस अधिकारियों से जोरदार बहस हुई। एच.राजा ने इस दौरान कथित तौर पर पुलिस को हिंदू विरोधी भी कह दिया।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मामला शनिवार (15 सितंबर) का है। गणेश चतुर्थी के अवसर पर राज्य के पुदुकोट्टाई जिले में गणेश यात्रा निकालने की तैयारी हो रही थी। लेकिन इसी बीच पुलिस और एच. राजा के बीच में रथयात्रा निकालने से ठीक पहले रूट को लेकर बातचीत हुई। बातचीत के दौरान पुलिस ने राजा के सुझाए रूट पर यात्रा निकालने से अशांति फैलने का अंदेशा जताया। पुलिस अधिकारियों ने रूट में बदलाव की बात कही।

इसी बात पर बीजेपी नेता एच. राजा पुलिस से भिड़ गए। पुलिस अधिकारियों और राजा में जमकर बहस हुई। बहस के दौरान राजा गुस्से से लाल हो उठे। उन्होंने क्रोध में पुलिस अधिकारियों को जमकर लताड़ लगाई। राजा ने कथित तौर पर पुलिस से कहा कि तुम हिंदू विरोधी हो और भ्रष्ट भी। जब पुलिस अधिकारियों ने मद्रास हाई कोर्ट के आदेश का हवाला दिया तो उन्होंने कथित तौर पर हाई कोर्ट के बारे में भी असंसदीय भाषा का इस्तेमाल किया।

भाजपा नेता एच. राजा का विवादों से नाता नया नहीं है। राजा पहले भी अपने बयानों के कारण सुर्खियां बटोरते रहे हैं। एच. राजा ने इससे पहले त्रिपुरा के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत के बाद तमिलनाडु में पेरियार की मूर्ति तोड़ने की अपील की थी। ये अपील उन्होंने त्रिपुरा में व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति तोड़े जाने के बाद ​की थी। राजा ने इस संबंध में एक विवादित पोस्ट भी लिखा था। एच. राजा डीएमके नेता कनिमोझी को करुणानिधि की अवैध संतान भी बता चुके हैं। इस पर भी पूरे राज्य में खासा विवाद हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App