जयललिता के निधन के बाद ‘भूत बंगले’ जैसा हो गया है पोएस गार्डन स्थित आवास

एक कर्मचारी ने बताया कि रात के समय यह हवेली किसी भूतिया हवेली से कम नहीं दिखता है। लोग यहां आने से कतराते हैं।

एक कर्मचारी ने बताया कि रात को लोग पोएस गार्डेन में आने से डरते हैं। (File Photo)

बंद दरवाजा, सन्नाटा पसरा हुआ और चारों ओर छाया अंधकार। आज हम किसी भुतहा जगह के बारे में नहीं बताने जा रहे हैं, बल्कि पोएस गार्डेन के बारे में बताने जा रहे हैं जो इस वक्त वाकई भुतहा जगह बन चुकी है। किसी समय में पोएस गार्डेन को चेन्नई की सबसे खूबसूरत बंग्ला माना जाता था। यह वही बंग्ला है जिसमें तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे.जयललिता रहती थी। लेकिन अब यह भुतिया जगह में शुमार हो चुकी है। यहां तक कि सरकार ने भी इसे स्मारक के तौर पर घोषित कर दिया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, पोएस गार्डेन के गार्ड ने बताया कि ये जगह इतनी भयानक हो चुकी है कि कोई भी यहां लंबे समय तक नहीं रहना चाहता। अब तक इस हवेली में मरम्मत का काम चल रहा था, लेकिन अब इसे पूरा कर लिया गया है। गार्ड ने बताया कि यहां के कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया गया है। शशिकला के जेल जाने के बाद यहां कोई आया नहीं। जिन गार्डों को नाईट शिफ्ट में यहां ड्यूटी पर लगाया गया है वे यहां काम नहीं करना चाहते हैं।

एक कर्मचारी ने बताया कि रात के समय यह हवेली किसी भूतिया हवेली से कम नहीं दिखता है। लोग यहां आने से कतराते हैं। उन्होंने बताया कि जिस जगह पर जयललिता का पोस्टर रखा गया था, वो जगह इतनी भयानक है कि कोई इंसान लंबे समय तक यहां टिक नहीं सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राज्य सरकार पोएस गार्डेन को स्मारक घोषित करने पर विचार कर रही है। लेकिन जयललिता की मौत के लगभग पांच महीने और दो अन्य हाई-प्रोफाइल वी के शशिकला और जे इलावारसी के जेल की सजा के बाद वेदा निलायम, नंबर 81 पोएस गार्डेन अब किसी भुतहा हवेली जैसा बन गया है। इस हवेली की सुरक्षा व्यवस्था काफी टाईट है। प्राईवेट सिक्योरिटी एजेंसियों को भी इसकी सुरक्षा के काम पर लगाया गया है।

पढें तमिलनाडु समाचार (Tamilnadu News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट