ताज़ा खबर
 

रात को हेडफोन लगाकर सोई, बिजली का झटका लगने से मौत

तमिलनाडु के कंथूर में हेडफोन से बिजली का झटका लगने के कारण एक महिला की मौत होने का अजीब मामला सामने आया है। 46 वर्षीय महिला की हेडफोन से बिजली का झटका लगने के कारण मौत हो गई।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

तमिलनाडु के कंथूर में हेडफोन से बिजली का झटका लगने के कारण एक महिला की मौत होने का अजीब मामला सामने आया है। टीओआई की खबर के मुताबिक 46 वर्षीय महिला की हेडफोन से बिजली का झटका लगने के कारण मौत हो गई। पुलिस ने मृतिका की पहचान फातिमा के तौर पर की है। पुलिस के मुताबिक फातिमा रविवार (6 मई) की रात कान में हेडफोन लगाकार गाना सुन रही थी और वह उसे लगाए हुए ही सो गई। सुबह पति अब्दुल कलाम ने फातिमा को जगाया तो उसकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। आनन-फानन में कलाम फातिमा को अस्पताल ले गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल के अधिकारियों ने कंथूर पुलिस थाने में इस बारे में सूचना दी, इसके बाद सरकारी रॉयपेट्टा अस्पताल में फातिमा का शव पोस्टमार्ट्म के लिए भेजा गया। पोस्टमार्ट्म में यह बात सामने आई कि फातिमा की मौत हेडफोन से बिजली का झटका लगने कारण हुई।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA1 Dual 32 GB (White)
    ₹ 17895 MRP ₹ 20990 -15%
    ₹1790 Cashback
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Ice Blue)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback

पुलिस ने इस बारे में सीआरपीसी की धारा 174 (अप्राकृतिक मौत) के तहत मामला दर्ज किया। पुलिस के आशंका जताई है कि शॉट सर्किट इस घटना की वजह हो सकता है। बता दें कि हेडफोन के कारण सड़क दुर्घटनाओं के कई मामले अक्सर देखे गए हैं, लेकिन हेडफोन से ही बिजली का झटका लगने के कारण मौत होने का यह मामला दुर्लभ है। पिछले दिनों यूपी के कुशी नगर के दिल दहला देने वाले हादसे के पीछे हेडफोन भी एक वजह बताया गया था।

ट्रेन और वैन की टक्कर से हुए इस हादसा ने देश भर के लोगों को विचलित कर दिया था। ट्रेन ने एक स्कूली वैन को टक्कर मारी थी, जिसमें 13 बच्चों की मौत हो गई थी। कहा गया था कि वैन का चालक कान में हेडफोन लगाकर वैन चला रहा था। मीडिया खबरों के मुताबिक कान में हेडफोन लगा होने के कारण चालक को ट्रेन की आवाज नहीं सुनाई दी थी और बच्चों के चिल्लाने की आवाज भी उस तक नहीं पहुंच पाई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App