ताज़ा खबर
 

विवेकानंद जयंती पर हुए कई कार्यक्रम

स्वामी विवेकानंद ने दुनिया के पटल पर देश की गौरवशाली सनातन संस्कृति को पुर्नस्थापित किया। सह-जिला संघ चालक कमलेश द्विवेदी ने यह बातें विवेकानंद की जयंती पर कहीं...

Author शाहजहांपुर | Published on: January 13, 2016 10:35 PM
स्वामी विवेकानंद (फाइल फोटो)

स्वामी विवेकानंद ने दुनिया के पटल पर देश की गौरवशाली सनातन संस्कृति को पुर्नस्थापित किया। सह-जिला संघ चालक कमलेश द्विवेदी ने यह बातें विवेकानंद की जयंती पर कहीं। इस मौके पर लिवेदी विद्या भारती की पुरातन छात्र परिषद लारा ने पूर्व संध्या पर आचार्य सम्मान समारोह आयोजित किया।

इस कार्यक्रम में पुरातन छात्रों की ओर से परिषद के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत अग्निहोत्री, उपाध्यक्ष रवि मिश्र ने अपने पूर्व शिक्षकों प्रद्युम्न दीक्षित, बृजकिशोर मिश्र, चंद्रपाल सिंह, रजनी और रामसागर अवस्थी का सम्मान किया। द्विवेदी ने कहा कि देश की युवा शक्ति को जागृत कर देश में राष्ट्र स्वाभिमान की भावना को विवेकानंद ने युवकों में जगाया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पूर्व आचार्य रामसागर अवस्थी ने कहा कि किसी भी देश में सबसे ज्यादा अहम युवा होते हैं। समाज के निर्माण उसके परिवर्तन और विकास में इनकी भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है। परिषद के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत अग्निहोत्री ने कहा कि हमारा देश विविधताओं से परिपूर्ण है, यह विविधताएं इसकी सबसे बड़ी ताकत हैं। हमें देश की कमजोरियों का रोना-रोने के स्थान पर उन्हें दूर करते हुए देश के विकास में खुद को समर्पित करना चाहिए।

प्रेरणास्रोत है विवेकानंद का जीवन: स्वामी विवेकानंद की जयंती पर शिक्षण संस्थाओं में गोष्ठी के माध्यम से बच्चों को विवेकानंद के व्यक्तित्व का बताया गया। अखिल भारतीय विद्यार्र्थी परिषद ने अपने कार्यक्रम में नवनिर्वाचित युवा जिला पंचायत अध्यक्ष अजय प्रताप सिंह यादव को सम्मानित किया। खिरनीबाग धर्मशाला में अभाविप के कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष यादव ने कहा कि देश का युवा पश्चिमी संस्कृति की ओर भाग रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories