ताज़ा खबर
 

आसाराम का बेटा नारायण साईं रेप केस में दोषी करार, 30 अप्रैल को सुनाई जाएगी सजा

आसाराम के बेटे नारायण साईं पर रेप केस के मामले में सूरत के सेशन कोर्ट ने शुक्रवार को फैसला सुनाया।

बेटे नारायण साईं के साथ आसाराम , फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

आसाराम के बेटे नारायण साईं पर रेप केस के मामले में सूरत के सेशन कोर्ट ने शुक्रवार को फैसला सुनाया। कोर्ट ने नारायण साईं को रेप के आरोप में दोषी करार दिया है। वहीं सजा का ऐलान 30 अप्रैल को किया जाएगा। बता दें कि आसाराम और उसके बेटे नारायण साईं पर गुजरात के सूरत में दो बहनों के साथ दुष्कर्म करने का आरोप है।

National Hindi News, 26 April 2019 LIVE Updates: दिनभर की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

क्या है पूरा मामला: बता दें कि आसाराम के बेटे नरायण साईं पर गुजरात के सूरत में दो बहनों के साथ दुषकर्म करने का आरोप है। बड़ी बहन ने आसारम पर 1997 और 2006 में अहमदाबाद में स्थित मोटेरा आश्रम में यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। वहीं छोटी बहन ने आसाराम के बेटे नारायण साईं पर यौन शौषण का आरोप लगाया था।

पुलिस को मिले थे सबूत: पुलिस ने पीड़ित बहनों के बयान के साथ ही उनकी बताईं लोकेशन्स से मिले सबूतों के आधार पर केस दर्ज किया था। वहीं रेप के मामले में FIR दर्ज होने के बाद ही नारायण साईं फरार हो गया तथा। लेकिन पुलिस ने FIR दर्ज होने के करीब 2 महीने बाद साईं को हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर के पास गिरफ्तार किया था।

 

नारायण साईं पर पुलिस को रिश्वत देने के आरोप: गौरतलब है कि रेप के आरोप के साथ ही जेल में रहते हुए एक पुलिसकर्मी को 13 करोड़ की रिश्वत देने का आरोप भी नारायण साईं पर लगा था। हालांकि उस मामले में नारायण साईं को जमानत मिल चुकी हैं जबकि रेप के मामले में आज सेशन कोर्ट ने दोषी करार दे दिया है। बता दें कि कोर्ट 30 अप्रैल को सजा सुनाएगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Ghaziabad: घर पर अकेली थी 5 साल की मासूम, 12वीं मंजिल से गिरकर हुई मौत
2 National Hindi News, 26 April 2019 Highlights: इंटरव्यू में चायवाले से पीएम मोदी ने पूछा नाम, फिर पूछा- कहां के रहने वाले हो ? चाय के बारे में कहा ये
3 अचानक एयर इंडिया के विमान के इंजन से निकलना लगा धुआं, कर्मचारी ने दिखाई समझदारी, लिया ये फैसला
ये पढ़ा क्या?
X