ताज़ा खबर
 

Dussehra 2019: पत्नी व दोस्तों संग गरबा खेलने माउंट आबू गया था युवक, अचानक जमीन पर गिरा और हो गई मौत

Dussehra (Vijayadashami) 2019: माउंट आबू के धार्मिक स्थलों को घूमने के बाद शाम के वक्त होटल लौटते समय उन्हें रास्ते में गरबा खेलते हुए कुछ लोग दिख गए। वे भी शामिल होे गए। इस दौरान जगदीश गिर गए और उनकी मौत हो गई।

Author माउंट आबू | Published on: October 8, 2019 2:38 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Dussehra 2019: गुजरात के एक व्यक्ति की नवरात्रि समारोह के दौरान गरबा खेलते हुए राजस्थान के माउंट आबू में मौत हो गई। यह घटना राजस्थान की है। इस व्यक्ति की पहचान सूरत के जगदीश के रूप में हुई है। जगदीश अपनी पत्नी और अपने पांच दोस्तों के साथ छुट्टियां मनाने गए हुए थे।

डॉक्टर ने मृत घोषित किया: जगदीश के दोस्त ने बताया कि हम छुट्टियों में सूरत से माउंट आबू आए थे। रविवार (6 अक्टूबर) को, जब हम दर्शनीय स्थलों की यात्रा के बाद अपने होटल लौटे तो हमने देखा कि वहां एक गरबा कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसलिए हम सभी ने भी गरबा खेलना शुरू कर दिया। इस दौरान हमारे दोस्त जदीश भाई अचानक गिर गए। हम तुरंत उसे अस्पताल ले गए, जहां उसे डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

National Hindi News, 8 October 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

वीडियो में कैद हुई घटना:  बता दे कि रविवार को दिन में माउंट आबू के धार्मिक स्थलो को घूमने के बाद शाम में होटल वापस आते समय उन्हें रास्ते में गरबा खेलते हुए कुछ लोग दिख गए, जिनमें वह भी शामिल होे गए , इस दौरान जगदीश गिर गए और उनकी मृत्यु हो गई। यह दुखद घटना एक मोबाइल वीडियो में कैद हो गया।

गुजरात में कुछ इस तरह मनाया जाता है दशहरा: गौरतलब है कि नवरात्र का त्यौहार गुजरात में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है और लोग रंग-बिरंगे कपड़े पहनकर गरबा खेलते हैं। नौ दिवसीय त्योहार को देश के कई हिस्सों में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है। हालांकि, सभी मामलों में एक ही संदेश है बुराई पर अच्छाई की जीत।

अलग- अलग है लोगों की धारणा: भारत के पूर्वी और पूर्वोत्तर राज्यों में, दुर्गा पूजा नवरात्रि का पर्याय है, जिसमें देवी दुर्गा शक्तिशाली राक्षस महिषासुर के साथ लड़ाई में विजयी होती हैं। जबकि उत्तरी और पश्चिमी राज्यों में लोग राम के राक्षस राजा रावण पर विजयी पाने की खुशी में मनाते है। दक्षिणी राज्यों में राम या सरस्वती के विभिन्न देवी-देवताओं की जीत का जश्न मनाया जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बेटों के नाम रावण-दुर्योधन, घर का रख दिया मृत्यु, ऐसी है गुजराती हीरा कारोबारी की अजब-गजब जिंदगी
2 Goa: बीच किनारे पत्नी संग सेल्फी ले रहा था दिल्ली का युवक, अचानक गिरी आसमानी बिजली और गंवा बैठा जान
ये पढ़ा क्या?
X