ताज़ा खबर
 

Surat Fire: उड़ी प्रशासन की नींद, वडोदरा में NOC मिलने तक 152 कोचिंग सेंटर्स को शट डाउन का आदेश

सूरत के एक कोचिंग सेंटर में लगी भीषण आग के बाद वडोदरा म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के कमिश्नर ने इस संबंध में संज्ञान लेते हुए कोचिंग सेंटरों को सेफ्टी ऑडिट कराने नोटिस जारी किया है।

Author सूरत | May 25, 2019 11:56 AM
गुजरात में कोचिंग क्लास के दौरान लगी आग फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

सूरत में एक कोचिंग क्लास में आग लगने की घटना के कारण 20 छात्रों और एक शिक्षिका की मौत के बाद पूरे राज्य में प्रशासन हरकत में है।वडोदरा नगर निगम ने शुक्रवार (24 मई) को शहर के लगभग 152 कोचिंग सेंटरों को इस संबंध में नोटिस जारी किया है। इस नोटिस के मुताबिक ये कोचिंग सेंटर तब तक बंद रहेंगे जब तक वे फायर सेफ्टी डिपार्टमेंट से एनओसी (अनापत्ति प्रमाण पत्र) हासिल नहीं कर लेते।

वीएमसी कमिश्नर ने नोटिस किया जारीः वीएमसी (वडोदरा म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन) के कमिश्नर अजय भादू ने शहर में कोचिंग सेंटरों को नोटिस जारी किया। साथ ही इसका उल्लंघन किए जाने पर कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान भादू ने कहा, ‘हमारे पास 152 कोचिंग सेंटरों के सर्वे की एक लिस्ट है। यह लिस्ट लगभग 10 दिनों पहले इन सेंटरों में फायर सेफ्टी की जांच के दौरान तैयार की गई थी। हमने एनओसी हासिल करने के लिए उन्हें नोटिस जारी किए थे। कई कोचिंग सेंटर इसके लिए पहले ही आवेदन कर चुके हैं। हमने जिन 152 कोचिंग सेंटरों का सर्वेक्षण किया था उनमें से 7-8 के पास फायर सेफ्टी ऑडिट का था। सूरत में हुई त्रासदी को देखते हुए हमने कोचिंग सेंटरों से तुरंत सेफ्टी ऑडिट को पूरा करने और इसके एनओसी मिलने तक कोचिंग सेंटर बंद रखने के लिए कहा है।’

National Hindi News, 25 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की खबरें जानने के लिए यहां क्लिक करें

जारी रहेगा सर्वेः वीएमसी कमिश्नर के मुताबिक शहर में ऐसे कई और भी कोचिंग सेंटर हो सकते हैं और टीमें शहर के अन्य हिस्सों का सर्वे करना जारी रखेंगी। भादू ने यह भी कहा कि उनकी टीम निगम के स्कूलों और अस्पतालों जैसे अन्य संवेदनशील प्रतिष्ठानों का भी सर्वेक्षण करेंगे।

अन्य इमारतों की भी होगी जांचः वीएमसी कमिश्नर ने कहा, ‘हम दूसरी व्यावसायिक इमारतों की भी जांच करेंगे। जांच में देखा जाएगा कि ये इमारतें आग से होने वाली दुर्घटनाओं से बचने के लिए कितनी सुरक्षित है। साथ ही यह जांच भी की जाएगी कि इन इमारतों का सेफ्टी ऑडिट हुआ है या नहीं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X