ताज़ा खबर
 

Surat Fire: 17 साल के चश्मदीद रूषित ने बताया दर्दनाक मंजर, बोले- कोई ऑप्शन नहीं था कूदना ही पड़ा, रूकते तो दम घुट जाता

रुषित ने कहा, 'हमने दमकल की गाड़ियों को नीचे देखा और लोगों ने हमें कूदने के लिए कहा।मैंने सोचा कि अगर मैं इस धुएं में यहां रहूंगा तो मैं दम घुटने से मर जाऊंगा। इसलिए मैंने चांस लिया और चौथी मंजिल से कूद गया।' रुषित के हाथ और सिर में चोटें आई हैं।

Author सूरत | May 25, 2019 9:09 AM
गुजरात में कोचिंग क्लास के दौरान लगी आग फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

सूरत में शुक्रवार (24 मई) को कोचिंग सेंटर में लगी आग ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया। हादसे में बमुश्किल अपनी जान बचा पाए चश्मदीद ने भयावह दास्तां को बयां किया। आग से बचने के लिए कोचिंग सेंटर में पढ़ रहे कई बच्चों ने वहां से छलांग लगा दी। इस हादसे में अब तक 20 छात्रों और एक शिक्षिका के मारे जाने की खबर सामने आ रही है। इस घटना में छत से कूदने के चलते घायल हुए रुषित ने दर्दनाक आपबीती सुनाई। 17 वर्षीय रुषित वेकरिया ने बताया कि जब वे पढ़ रहे थे तो अचानक एसी से धुआं निकलता दिखा, इसे देखकर सभी छात्र घबरा गए।

टीचर ने कहा नीचे से आ रहा धुआंः वेकरिया ने कहा, ‘हमारे टीचर ने कहा कि ये धुआं नीचे सीढ़ियों पर कागज के जलने की वजह से आ रहा है। लेकिन धीरे-धीरे धुआं बढ़ता गया। इसके बाद सुरक्षा के लिए हम कोचिंग सेंटर के आखिर के कमरे में चले गए। हमारे लिए सांस लेना मुश्किल हो गया था इसलिए वहां की खिड़कियों को तोड़ दिया।’

National Hindi News, 25 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की खबरें जानने के लिए यहां क्लिक करें

लोगों ने कूदने को कहाः रुषित ने कहा, ‘हमने दमकल की गाड़ियों को नीचे देखा और लोगों ने हमें कूदने के लिए कहा, लेकिन हमें नीचे हमें पकड़ने के लिए कोई सुरक्षात्मक जाल नहीं था। मैंने सोचा कि अगर मैं इस धुएं में यहां रहूंगा तो मैं दम घुटने से मर जाऊंगा। इसलिए मैंने चांस लिया और चौथी मंजिल से कूद गया।’ रुषित के हाथ और सिर में चोटें आई हैं।

पीएम मोदी ने जताया दुखः प्रधानमंत्री मोदी ने इस दर्दनाक घटना पर शोक प्रकट किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘सूरत में हुई त्रासदी से मैं बेहद आहत हूं। मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिजनों के साथ है। प्रार्थना करता हूं कि हादसे में घायल जल्दी स्वस्थ हों। हमने गुजरात सरकार और स्थानीय अधिकारियों से प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए कहा है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X