ताज़ा खबर
 

Ghaziabad: पति ने पत्नी को दिया जहर और घोंप दिया चाकू, तीनों बच्चों की भी गला दबाकर कर दी हत्या

गाजियाबाद में एक शख्स पर अपने पूरे परिवार की हत्या का आरोप है। पुलिस ने बताया कि आरोपी पति सुमित ने पत्नी को जहर दिया और फिर चाकू घोंप दिया। वहीं तीनों बच्चों का भी गला दबा दिया।

अंशु बाला और उनके बच्चे आरव, आकृति और प्रथमेश, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

गाजियाबाद में एक दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक शख्स पर अपनी पत्नी और तीन बच्चों का बेहरमी से मर्डर करने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक आरोपी शख्स ने अपनी पत्नी को जहर देने के बाद उसको चाकू घोंपा जबकि तीनों बच्चों का गला दबा दिया। वहीं आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर है और उसकी तलाशी जारी है।

कहां का है पूरा मामला: बता दें कि पूरा मामला गाजियाबाद के इंदिरापुरम का है। जहां ज्ञानखंड 4 के फ्लैट SF 175B में रहने वाले 40 वर्षीय सुमित पर अपने परिवार की हत्या का आरोप है। पुलिस का कहना है कि शनिवार (20 अप्रैल) को सुमित ने अपनी पत्नी अंशु बाला को सबसे पहले जहर (साइनाइड) दिया और बाद में उसकी चाकू घोंप कर हत्या कर दी। वहीं इसके बाद सुमित ने अपने पांच वर्षीय बेटे प्रथमेश और चार वर्षीय जुड़वा बच्चों आरव और आकृति की गला दबाकर हत्या कर दी।

बेंगलुरु में जॉब करता है सुमित: बता दें कि करीब दो महीने पहले तक सुमित बेंगलुरु की एक कंपनी में काम करता था। फिलहाल सुमित फरार है और पुलिस उसका फोन ट्रेस करने की कोशिश कर रही है। वहीं एक लोकल गार्ड ने पुलिस का बताया कि रविवार की सुबह सुमित एक काले बैग के साथ गया था और कहा था कि वो जल्दी ही वापस आएगा।

National Hindi News, 23 April 2019 LIVE Updates: एक दिन में पढ़ें दिनभर की हर बड़ी खबर

लोकल केमिस्ट को पुलिस ने किया गिरफ्तार: बता दें कि पुलिस ने उस लोकल केमिस्ट को गिरफ्तार कर लिया है जिसने सुमित को साइनाइड दिया था। इंदिरापुरम के एसएचओ संदीप कुमार सिंह ने बताया- ‘जांच में पता चला सुमित ने दुकान से साइनाइड और ड्रग्स खरीदा था। उस केमिस्ट मुकेश को गिरफ्तार कर लिया गया है।’

व्हाट्सएप वीडियो पर परिवार को बताई मर्डर की कहानी: इस पूरे मामले पर अंशु के परिवार वालों ने बताया कि हाल ही में जुड़वा बच्चों का बर्थडे मनाया था और सुमित काफी खुश था। पुलिस ने बताया कि सुमित के भाई ने जानकारी दी कि फ्लैट में कुछ गड़बड़ हुई है। चूंकि सुमित ने परिवार के व्हाट्सएप ग्रुप पर एक कंफेशन वीडियो भेजा था। जिसमें वो मर्डर की बात कर रहा था। वीडियो में सुमित किसी ट्रेन के बाथरूम में बैठा था। वहीं अंशु की मां मीरा ने कहा कि हमारे पास सुमित के भाई का फोन आया था और उसने कहा था कि पुलिस को सुमित का नाम नहीं बताया जाए।

पुलिस को कैसी मिली शव की जानकारी: बता दें कि शवों के बारे मेंअंशु के भाई पंकज सिंह को पता चला। जो पास में ही रहता था। वहीं अंशु के परिवार वालों ने कहा कि सुमित ने कभी भी कोई आर्थिक दिक्कत की बात भी उनसे शेयर नहीं की थी। अंशु के पिता बीएन सिंह ने कहा- हमे नहीं पता था कि ऐसा कुछ होगा। हम साथ ही रहते थे लेकिन शादी के लिए बाहर गए थे।

 

पड़ोसी का क्या है कहना: सुमित के फ्लैट के सामने रहने वाले रोबिन का कहना है कि सुमित इंजीनियरिंग से लेकर कंप्यूटर्स तक की बात करता था। वो नेपाल में स्ट्रे डॉग्स की मौत पर भी बात करता था। बातों से कभी भी वो हिंसक नहीं लगा, वो बस जरा हटकर था। हां लेकिन वो स्मोक बहुत करता था, लगभग हर आधे घंटे में एक बार। वहीं दूसरे पड़ोसी मीरा ने बताया कि सुमित एनसीआर में जॉब करना चाहता था और परिवार के साथ रहना चाहता था। बताते हैं कि सुमित को टोंसिल इश्यू था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Kolkata: ट्रिपल तलाक अभियान की पोस्टर गर्ल इशरत जहां बीजेपी से नाराज, छोड़ सकती हैं पार्टी
2 मोदी सरकार के मंत्री को धमकी- नोटबंदी में हुआ घाटा, आठ करोड़ का लोन दीजिए
3 Delhi: फैक्ट्री की खराब लिफ्ट में फंस गया लिफ्टमैन का सिर, तड़प-तड़पकर गंवा दी जान
कोरोना टीकाकरण
X