ताज़ा खबर
 

रिश्तेदार के इनकार पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पुश्तैनी घर अकेले गए पीएम, BJP नेताओं को बाहर करना पड़ा इंतजार

बताया गया है कि बंगाल भाजपा के प्रभारी और पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए नेताजी के घर के बाहर ही मौजूद थे, हालांकि किसी को अंदर नहीं जाने दिया गया।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र कोलकाता | Updated: January 24, 2021 9:06 AM
PM Narendra Modi, Kolkataपीएम मोदी शनिवार को कोलकाता में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पुश्तैनी घर भी गए। (फोटो- PTI)

पश्चिम बंगाल में अगले कुछ महीनों में चुनाव होने वाले हैं। इसके मद्देनजर अलग-अलग पार्टियां राजनीति के लिए मौकों को भुनाने में जुटी हैं। ऐसा ही एक मौका नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती भी रही। इसके लिए भाजपा के साथ-साथ तृणमूल कांग्रेस ने अपने स्तर पर कई कार्यक्रम किए और राज्य में अपनी पैठ बनाने की कोशिशें जारी रखीं। हालांकि, एक मौका ऐसा भी आया, जब सुभाष चंद्र बोस के परिवार के एक सदस्य नेताजी की जयंती के राजनीतिकरण के खिलाफ खड़े हो गए। यह मौका था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कुछ भाजपा नेताओं का साथ में बोस के पुश्तैनी घर जाने का।

द टेलिग्राफ अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा कि शनिवार को जब पीएम मोदी के साथ कुछ भाजपा नेता कोलकाता के एल्गिन रोड स्थित स्वतंत्रता सेनानी के पुश्तैनी घर पहुंचे, तो नेताजी के पड़पोते सुगत बोस ने सिर्फ प्रधानमंत्री को ही घर में जाने दिया। उन्होंने कहा कि मोदी का सिर्फ प्रधानमंत्री की तरह ही घर में स्वागत है और इस कार्यक्रम का राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए।

सुगत बोस नेताजी रिसर्च ब्यूरो में इतिहासकार हैं। उन्हें पीएम मोदी के दौरे के बारे में शनिवार दोपहर को ही फोन आया था। इसमें कहा गया था कि मोदी नेताजी भवन का दौरा करना चाहते हैं। इस दौरान कुछ भाजपा नेता भी उनके साथ होंगे। हालांकि, सुगत जो कि पूर्व में तृणमूल कांग्रेस के सांसद भी रहे हैं, ने पीएम के अलावा बाकी भाजपा नेताओं की एंट्री रोक दी।

बताया गया है कि बंगाल भाजपा के प्रभारी और पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए नेताजी के घर के बाहर ही मौजूद थे। उनके साथ नेताजी के एक और पड़पोते और भाजपा नेता चंद्र कुमार बोस भी मौजूद थे। हालांकि, सिर्फ मोदी ही नेताजी भवन के अंदर गए। बाकी सभी ने बाहर ही पीएम का इंतजार किया। जिस वक्त पीएम नेताजी भवन का दौरा कर रहे थे, तब भाजपा समर्थकों ने बाहर जय श्री राम के नारे लगाए।

अचानक ही बनी मोदी के बोस के पुश्तैनी घर जाने की योजना: प्रधानमंत्री मोदी के असल कार्यक्रम के तहत उन्हें पहले नेशनल लाइब्रेरी में रुकना था। हालांकि, सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार को यह योजना बनी कि पीएम कोलकाता के नेताजी भवन जाएंगे। भाजपा नेता चंद्र कुमार बोस ने दावा किया कि उन्होंने पीएम से नेताजी के पुश्तैनी घर जाने की अपील की थी और उन्हें खुशी है कि पीएम ने उनकी मांग स्वीकार की।

Next Stories
1 UP: मथुरा के मंदिर में नमाज पढ़ने वाले व्यक्ति को इलाहाबाद HC से मिली अग्रिम जमानत, अदालत बोली- ऐसे मामलों में गिरफ्तारी होना चाहिए आखिरी विकल्प
2 बीजेपी की पूर्व मंत्री ने चेताया- हिंसक हो सकता है किसान आंदोलन, पीएम चाहें तो एक दिन में हल संभव
3 महिलाओं की इज्जत नहीं करता RSS, राहुल गांधी का वार- अपने संगठन में जगह क्यों नहीं दी?
आज का राशिफल
X