ताज़ा खबर
 

बिहार: अब इंजीनियरिंग का छात्र अगवा, दुबई में बिल्‍डर पिता को मिला फिरौती का एसएमएस

लड़के के पिता दुबई में बिल्‍डर हैं। लड़के के पिता को अपने बेटे के फोन से फिरौती से जुड़ा एक एसएमएस मिला, जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

Author पटना | December 31, 2015 10:33 am
तीसरी बार चुनाव जीत कर मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद हस्‍ताक्षर करते नीतीश कुमार की फाइल फोटो। नागरिकों के जान-माल की रक्षा की कसौटी पर कुमार के नए कार्यकाल की शुरुआत बेहद खराब हुई है।

बिहार में रंगदारी के लिए इंजीनियर की हत्‍या और धमकी की खबरों के बीच अब पटना के एक प्राइवेट कॉलेज में पढ़ने वाले 18 साल के स्‍टूडेंट के कथित तौर पर अगवा होने की बात सामने आई है। इस लड़के के पिता दुबई में बिल्‍डर हैं। वह पटना के बहादुरपुर इलाके में एक किराए के मकान में रहता था। बीते 26 दिसंबर से वह लापता बताया जा रहा है। लड़के के पिता को अपने बेटे के फोन से फिरौती से जुड़ा एक एसएमएस मिला, जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि शाहिद अली पटना के करीब बिहटा के एक प्राइवेट इंजीनियर कॉलेज में पढ़ता है। 26 दिसंबर को वह कॉजेज यूनिफॉर्म में घर से निकला था। बहादुरपुर पुलिस स्‍टेशन कके अंतर्गत आने वाले न्‍यू अजीमाबाद कॉलोनी में रहने वाली अली की मां ने 27 दिसंबर को अपने बेटे के लापता होने की खबर पुलिस को दी। पुलिस ने इस शिकायत को उस वक्‍त एफआईआर में तब्‍दील कर दिया, जब लड़के के पिता ने बताया कि उन्‍हें बेटे के मोबाइल से एसएमएस के जरिए पांच लाख की फिरौती देने से जुड़ा एसएमएस मिला है। पिता के मुताबिक, एसएमएस में धमकी दी गई है कि पैसे न देने पर गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

पुलिस ने मामले की जांच के लिए एसआईटी बनाकर मोबाइल फोन के लोकेशंस के आधार पर मधुबनी में कई जगह छापे मारे हैं। हालांकि, पुलिस को एसएमएस की प्रमाणिकता पर शक है। पटना के एसएसपी मनु महाराज ने द इंडियन एक्‍सप्रेस से बातचीत में कहा, ”हमें कुछ जानकारी मिली है। लेकिन कुछ सवालों के जवाब ढूंढना बाकी है। मसलन कॉलेज बंद होने के बावजूद लड़का यूनिफॉर्म पहनकर घर से बाहर क्‍यों निकला? वह बीते छह महीने से कॉलेज नहीं जा रहा था।” बता दें कि बिहार पुलिस ने नवंबर महीने में किडनैपिंग के 23 मामले दर्ज किए हैं।

बिहार में बढ़ते आपराधिक वारदात पर जनसत्‍ता का संपादकीय पढ़ें 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App