ताज़ा खबर
 

साथी छात्रों की छेड़छाड़ से परेशान थी छात्रा, पुलिस ने नहीं की मदद तो दे दी जान

परिजनों के मुताबिक बेटी को क्लास में पढ़ने वाले छात्र अनिकेत पांडेय और अनिकेत दीक्षित छेड़छाड़ व परेशान करते थे। बीते माह 12 मार्च को उसने थाने में छात्रों के खिलाफ तहरीर दी थी। आरोप है कि इस मामले में बेटी पर पुलिस ने दबाव बनाते हुए कार्यवाही न करने की नसीहत देते हुए समझौता करा दिया था।

Author April 3, 2018 00:21 am
बेटी के आत्महत्या से गुस्साएं परिजनों ने दारोगा के छेड़छाड़ में कार्यवाही न करने व उससे आहत बेटी द्वारा ऐसा कदम उठाने का दोषी मानते हुए धक्का-मुक्की कर दी।

उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में कल्याणपुर इलाके में शोहदों की छेड़छाड़ से परेशान बीसीए में पढ़ने वाली छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्रा के आत्महत्या करने के पीछे साथ में पढ़ने वाले दो छात्रों पर आरोप है कि वह उससे आये दिन छेड़छाड़ करते थे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम भेजते हुए कार्यवाही शुरू कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार कल्याणपुर के आदर्शनगर में रहने वाला दिनेश दंत चिकित्सक है। परिवार में पत्नी गीता व दो बेटियां सोनल व एश्वर्या उर्फ मोनल हैं। छोटी बेटी छात्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय में बीसीए द्वितीय वर्ष की छात्रा थी। सोमवार को छात्रा दोपहर घर में मां से पढ़ाई करने की बात कहकर दूसरी मंजिल पर बने कमरे में चली गई। कुछ देर बाद जब मां उसे खाना देने कमरे में गई तो दरवाजा बंद था। जैसे ही मां ने खिड़की से कमरे के अंदर झाक कर देखा कि बेटी का शव पंखे से दुपट्टे के सहारे लटकता देख उसके होश उड़ गये।

घटना की जानकारी पर पुलिस उपाधीक्षक कल्याणपुर राजेश पांडेय ने पुलिस के साथ दरवाजा तोड़कर शव नीचे उतारा और फोरेंसिक टीम के साथ जांच पड़ताल की। पुलिस ने परिजनों से भी पूछताछ की। परिजनों के मुताबिक बेटी को क्लास में पढ़ने वाले छात्र अनिकेत पांडेय और अनिकेत दीक्षित छेड़छाड़ व परेशान करते थे। बीते माह 12 मार्च को उसने थाने में छात्रों के खिलाफ तहरीर दी थी। आरोप है कि इस मामले में बेटी पर पुलिस ने दबाव बनाते हुए कार्यवाही न करने की नसीहत देते हुए समझौता करा दिया था। इसके बाद से वह लगातार तनाव में रहती थी। इसी के चलते ही उसने फांसी लगाकर आत्महत्या की है।

सीओ ने बताया कि घटना के पीछे छेड़छाड़ का मामला प्रकाश में आ रहा है। परिजनों ने रावतपुर चौकी पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाये हैं। जिसकी जांच की जा रही है.लेकिन उच्च अधिकारियों के आदेश पर कल्याणपुर इंस्पेक्टर समीर कुमार सिंह को लाइन हाजिर कर दिया गया है और चौकी इंचार्ज अजय मिश्रा को सस्पेंड किया गया है। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम भेजते हुए कार्यवाही की जा रही है।

दरोगा के साथ मारपीट व फाड़ी वर्दी

घटना की जानकारी पर रावतपुर चौकी से दरोगा व सिपाही साथ मृतका के घर पहुंचे। जहां बेटी के आत्महत्या से गुस्साएं परिजनों ने दारोगा के छेड़छाड़ में कार्यवाही न करने व उससे आहत बेटी द्वारा ऐसा कदम उठाने का दोषी मानते हुए धक्का-मुक्की कर दी। यही नहीं मामला बड़ा तो परिजनों ने दरोगा के साथ मारपीट व वर्दी तक फाड़ दी। परिजनों व रिश्तेदारों को गुस्सा देखते हुए दरोगा मौके से भाग निकला। परिजनों का आरोप है कि बेटी की तहरीर पर दरोगा अजय मिश्रा ने दबाव बनाते हुए समझौता करा दिया था। जिसके चलते वह परेशान थी और आज उसने आत्महत्या कर ली!

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App