ताज़ा खबर
 

बीजेपी सांसद के खिलाफ सब्जीवाले ने दी शिकायत

रात करीब 8 बजे किरीट सोमैया अचानक वहां पहुंचे और सब्जी बेच रहे लोगों से जगह खाली कर देने को कहा। जगह खाली करने का अल्टीमेटम देने के बाद भाजपा सांसद वहां से चले गए, लेकिन थोड़ी देर ही बाद वो दोबारा वहां आए।

भाजपा के सांसद किरीट सोमैया। (FIle Photo)

इधर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद किरीट सोमैया पर एक सब्जी बेचने वाले शख्स ने बदसलूकी का आरोप लगाया है। मुंबई के एक फेरीवाले का आरोप है कि रविवार (20 मई) की रात करीब 8 बजे किरीट सोमैया अचानक वहां पहुंचे और सब्जी बेच रहे लोगों से जगह खाली कर देने को कहा। जगह खाली करने का अल्टीमेटम देने के बाद भाजपा सांसद वहां से चले गए, लेकिन थोड़ी देर ही बाद वो दोबारा वहां आए। इस दौरान सब्जी बेचने वाले इस शख्स ने उनसे कहा कि वो थोड़ी देर में यह जगह खाली कर रहा है, लेकिन भाजपा सांसद ने उसे धक्का दे दिया। इतना ही नहीं आरोप के मुताबिक उस वक्त वहां एक महिला सब्जी खरीद रही थीं, किरीट सोमैया ने महिला का थैला भी सड़क पर फेंक दिया।

सब्जी वाले के मुताबिक किरीट सोमैया ने उसपर करीब साढ़े बारह सौ रुपये का जुर्माना भी लगाया। इस मामले में थाने में शिकायत भी दर्ज कराई गई है। हालांकि अभी तक किरीट सोमैया की तरफ से इस मामले पर किसी भी तरह का कोई बयान नहीं आया है। फिलहाल पुलिस इस मामले की छानबीन में जुट गई है।

आपको याद दिला दें कि भाजपा सांसद किरीट सोमैया के खिलाफ साल 2014 में मुंबई के उपनगर मुलुंड के नवघर पुलिस थाने में पुलिस के काम में दखल देने, एक इंस्पेक्टर के साथ बदसलूकी करने और उन्हें धमकाने का केस भी दर्ज हुआ था। उस वक्त उनपर आरोप लगा था कि सोमैया ने नवघर पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर संपत मुंडे के साथ बदसलूकी की है। आरोप के मुताबिक भाजपा नेता अपने निजी सहायक परीक्षित धूमे को छुड़ाने के लिए पुलिस स्टेशन गए थे। किरीट पर उस वक्त आईपीसी की गैर जमानती धारा 332, 353 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

पिछले ही साल सितंबर के महीने में मुंबई में भाजपा विधायक अमित साटम पर फेरीवालों के साथ बदसलूकी का आरोप लगा था। इस घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वीडियो में कथित तौर से भाजपा नेता अमित साटम स्थानीय फेरी वालों को अभद्र भाषा में गालियां देते नजर आ रहे थे। वीडियो में यह भी नजर आ रहा था कि अमित साटम फेरीवाले को पीटने की कोशिश भी करते हैं। इतना ही नहीं पास में ही खड़े एक पुलिस वाले से अमित साटम कहते हैं कि तुमने कमर में बंदूक क्यों बांध रखी है, तु्म्हें शर्म आनी चाहिए, सरकार तुम्हें तनख्वाह क्यों देती है। तुम्हें यह तनख्वाह फेरीवालों पर कार्रवाई करने के लिए दी जाती है। उस वक्त अमित साटम और उनके लोगों पर फेरीवालों ने हफ्ता मांगने का आरोप लगाया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App