scorecardresearch

Chhattisgarh: दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन में दो गुटों में जबरदस्त पथराव, वीडियो आया सामने, गाड़ियों के शीशे तोड़ते नजर आए लोग

Chhattisgarh News: बिलासपुर में दुर्गा पूजा के बाद मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में पथराव हुआ है इस दौरान कई लोग घायल हुए हैं। इस हमले में घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

Chhattisgarh: दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन में दो गुटों में जबरदस्त पथराव, वीडियो आया सामने, गाड़ियों के शीशे तोड़ते नजर आए लोग
Chhattisgarh News: मां दुर्गा के मूर्ति विसर्जन को लेकर दो गुटो में पथराव कई लोग घायल (Photo- ANI)

Chhattisgarh News: नवरात्र खत्म होते ही पूरे देश में मां दुर्गा की प्रतिमा को विसर्जन के लिए निकाला जाता है। छत्तीसगढ़ में मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान दो गुटों में जमकर पथराव हो गया। पूरे मामले का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा है। मामला छत्तीसगढ़ के बिलासपुर का है जहां दुर्गा पूजा के बाद मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में पथराव हुआ है इस दौरान कई लोग घायल हुए हैं। इस हमले में घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

दोनों गुटों में हो रहे विवाद की वजह से माता के विसर्जन के लिए लाया गया डीजे भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। इसके अलावा मां की प्रतिमा को भी पत्थरों से नुकसान पहुंचा है। पुलिस की टीम घटनास्थल पर पहुंच गई है और मामले को नियंत्रण में ले लिया है। स्थानीय लोगों ने मीडिया को बताया कि बिलासपुर शहर में मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के लिए ले जा रहे थे इसी दौरान दो गुटों में आपसी विवाद हो गया। विवाद के बाद एक गुट के लोगों ने झांकी और साउंड सिस्टम को तोड़ दिया और दूसरे गुट पर जोरदार पत्थरबाजी की। इस दौरान बज रहे डीजे और वाहनों पर भी पत्थरबाजी हुई, लोगों से मार-पीट भी की गई।

आगे-पीछे चल रहे थे दोनों गुट

मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान ये दोनों गुट आगे पीछे चल रहे थे। इस बीच दोनों गुटों में किसी बात को लेकर कहा-सुनी हो गई जिसके बाद दोनों गुटो में उपस्थित नवयुवकों ने जमकर उत्पात मचाया। इस मारामारी के दौरान दोनों गुटों के युवकों ने सड़कों के किनारे खड़ी पब्लिक पर भी हमला बोल दिया था। जब मामला ज्यादा बढ़ने लगा तो सड़कों से लोगों ने भागकर अपनी जान बचाई।

एसपी ने किए थे सुरक्षा के इंतजाम लेकिन पुलिस थी नदारद

आपको बता दें कि ये पूरा मामला बिलासपुर की कोतवाली थाना क्षेत्र के सदर बाजार का है। पहले से ही मूर्ति विसर्जन के मामले को लेकर जिले के एसपी ने मूर्ति विसर्जन को लेकर विशेष सुरक्षा के मद्देनजर ड्यूटी लगाई थी, इसके बावजूद वहां पर एक भी पुलिस का जवान मौजूद नहीं था। विसर्जन के दौरान आपस में भिड़ने वाले पूजा समितियों के नाम चांटीडीह दुर्गा समिति और कुदुदंत दुर्गोत्सव समिति है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 07-10-2022 at 04:20:30 pm
अपडेट