ताज़ा खबर
 

स्टेट लेवल क्रिकेटर ने विदेशी क्लब में खेलाने के नाम पर कई लोगों को ठगा, गिरफ्तार

सौरभ ने 2009 में अपनी प्राइवेट स्पोर्ट्स मैनेजमेंट कंपनी और एकेडमी बनाई थी।
स्टेट लेवल क्रिकेटर सौरभ को ठगी के मामले में गिरफ्तार किया गया है। (फाइल)

दिल्ली में धोकाधड़ी के मामले में पुलिस ने एक स्टेट लेवल क्रिकेटर को गिरफ्तार किया है। 29 वर्षीय सौरभ भामरी कथित रूप से लोगों को वीजा दिलाने के बहाने उनसे लाखों रुपये ऐंठता था। सौरभ ऑस्ट्रेलिया में प्राइवेट क्रिकेट क्लबों में मैच खेलाने के नाम पर लोगों से लाखों रुपये ठगी करता था। जांच में पता चला है कि सौरभ एक प्राइवेट स्पोर्ट्स मैनेजमेंट कंपनी का एमडी था। सूत्रों के मुताबिक, सौरभ ने 2009 में अपनी कंपनी बनाई थी। वह लोगों को अपनी क्रिकेट एकेडमी में शामिल होने और फिर उन्हें विदेश में खेलने के लिए वीजा दिलाने के बदले भारी रकम लेता था। सौरभ के खिलाफ 4 लोगों की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने उसके बैंक खाता से 20 लाख रुपये की रकम सीज कर ली थी।

पुलिस के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के ऋषभ त्यागी की कुछ महीने पहले दिल्ली में मुलाकात हुई थी। एक वरिष्ठ पुलिस अफसर ने बताया, “सौरभ ने त्यागी को ऑस्ट्रेलिया में एक क्रिकेट क्लब के लिए खेलने को कहा था। इसके लिए त्यागी ने उसे 7 लाख रुपये दिए थे लेकिन वीजा रिजेक्ट होने के बाद उसे पैसे वापिस नहीं मिले। त्यागी की शिकायत के बाद मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई। कई समन भेजे गए और रेड भी डाली गईं। तीन दिन पूछताछ के बाद उसे मंगलवार(22 अगस्त) को गिरफ्तार कर लिया गया।” क्राइम ब्रांच (डीसीपी) जी रामगोपाल नायक ने बताया, “सौरभ के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया है। कोर्ट में उसकी पेशी हुई थी जिसके बाद उसे तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया।”

सूत्रों के मुताबिक, सौरभ विजय हजारे ट्रॉफी, सी के नायडू ट्रॉफी, इंटर-यूनिवर्सिटी क्रिकेट टूर्नामेंट और इंग्लैंड में एक प्राइवेट क्लब के लिए क्रिकेट खेल चुका था। इसके अलावा वह उत्तर प्रदेश में कई कॉलेजों के लिए भी खेल चुका था और 2015 में उसने बरेली प्रेमियर लीग का आयोजन कराया था। पुलिस अधिकारी ने यह भी बताया कि वह अपनी एकेडमी में कई क्रिकेटर्स को इंवाइट कर चुका था जिनमें कुछ अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App