ताज़ा खबर
 

श्री श्री रविशंकर बोले- अदालत से नहीं निकलेगा अयोध्‍या मसले का हल, वहां राम मंदिर ही बनेगा

श्री श्री रविशंकर ने कहा कि कोर्ट से राम जन्मभूमि विवाद का कोई हल नहीं निकल सकता। क्योंकि कोर्ट के फैसले से किसी एक पक्ष को हार स्वीकार करनी पड़ेगी, जो पक्ष हारेगा, वो अभी तो मान जाएगा लेकिन कुछ समय बाद फिर बवाल शुरू हो जाएगा।

Author बलरामपुर | March 1, 2018 2:09 PM
श्री श्री रविशंकर। (File Photo)

राम जन्मभूमि विवाद का हल कोर्ट से नहीं आपसी बातचीत से ही निकलेगा। यह कहना है आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर का। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर ही बनेगा। श्री श्री ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए वार्ता चल रही है। अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण अवश्य होगा। उन्होंने कहा कि कोर्ट से राम जन्मभूमि विवाद का कोई हल नहीं निकल सकता। क्योंकि कोर्ट के फैसले से किसी एक पक्ष को हार स्वीकार करनी पड़ेगी, जो पक्ष हारेगा, वो अभी तो मान जाएगा लेकिन कुछ समय बाद फिर बवाल शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही सौहार्दपूर्ण माहौल में कोर्ट के बाहर विवाद हल होने की पूरी उम्मीद है।

इसके बाद वह श्रावस्ती पहुंचे, जहां बौद्ध भिक्षुओं ने श्री श्री का स्वागत किया। श्री श्री ने श्रावस्ती स्थित बौद्ध मंदिर और स्तूप का भ्रमण किया। बौद्धकालीन स्मारकों के संरक्षण और रखरखाव पर वे प्रसन्न दिखे। दूसरी तरफ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मथुरा दौरे के बाद अब वहां राम मंदिर निर्माण को लेकर मंथन शुरू हो गया है। पुरी पीठाधीश्वर जगद्गुरु स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ की अध्यक्षता में देश भर के वरिष्ठ धर्माचार्यों और साधु-संतों ने मंगलवार को दो दिवसीय गोष्ठी कर श्रीरामजन्मभूमि विवाद पर गहन मंत्रणा की।

गोष्ठी में चर्चा के दौरान निर्वाणी अनी अखाड़ा के महंत और श्रीरामजन्मभूमि विवाद के प्रमुख पक्षकार धर्मदास महाराज ने बताया कि श्रीरामजन्मभूमि पर रामलला के भव्य मंदिर का निर्माण जल्द ही शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि उच्चतम न्यायालय में मामले की 14 मार्च से सुनवाई है। शीर्ष अदालत ने स्पष्ट कर दिया है कि वह भावनाओं पर नहीं, बल्कि सबूतों के आधार पर फैसला करेगी। श्रीमहंत धर्मदास जी महाराज ने बताया कि श्रीरामजन्मभूमि की जमीन राम लला के ही नाम है। उनके पास इसके पुख्ता साक्ष्य मौजूद हैं। ऐसे में श्रीरामजन्मभूमि का विवाद जल्द ही निपट जाएगा। इसके बाद ही वहां मंदिर का निर्माण प्रारंभ हो जाएगा।

एक सवाल के जवाब में श्रीमहंत धर्मदास ने कहा कि मथुरा की होली देव होली है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस आयोजन में शामिल होने से इसकी भव्यता में बढ़ोत्तरी हुई है। अयोध्या में दिवाली के अवसर पर मुख्यमंत्री की रही उपस्थिति को भी श्रीमहंत ने खूब सराहा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सनातन धर्म को बढ़ावा दे रहे हैं। इससे प्रदेश में पयर्टन को भी बढ़ावा मिलेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App