ताज़ा खबर
 

देवकीनंदन ठाकुर को मिली जान से मारने की धमकी, कथावाचक बोले- अब मैं पीछे नहीं हटूंगा

अनुसूचित जाति-जनजाति (संशोधन) विधेयक का विरोध कर रहे भागवत वक्ता देवकीनन्दन ठाकुर को अनजान नंबरों से फोन पर जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं और सोशल मीडिया पर भी उन्हें ट्रोल किया जा रहा है।

Author मथुरा | September 14, 2018 12:20 PM
पहले हिरासत, फिर रिहाई और देवकीनंदन को मिल रहीं जान से मारने की धमकियां

अनुसूचित जाति-जनजाति (संशोधन) विधेयक का विरोध कर रहे भागवत वक्ता देवकीनन्दन ठाकुर को अनजान नंबरों से फोन पर जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं और सोशल मीडिया पर भी उन्हें ट्रोल किया जा रहा है। उनके ‘शांति सेवाधाम’ आश्रम के प्रबंधक गजेंद्र सिंह ने वृन्दावन कोतवाली में तहरीर देकर पुलिस से इस मामले की जांच करने और ठाकुर की सुरक्षा का आग्रह किया है। पुलिस ने इस संबंध में बृहस्पतिवार को मामला दर्ज कर लिया। पुलिस अधीक्षक (नगर) श्रवण कुमार सिंह ने बताया कि देवकीनन्दन ठाकुर के व्यवस्थापक द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार अनजान फोन कॉल और सोशल मीडिया के जरिए भागवताचार्य को गोली मारने तथा शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर देने जैसी धमकियां दी जा रही हैं। धमकी के कुछ ऑडियो-वीडियो रिकॉर्ड उनके पास हैं।

उन्होंने बताया कि कोतवाली प्रभारी स्वयं इस मामले में जांच कर रहे हैं। गजेंद्र सिंह द्वारा उपलब्ध कराई गई आॅडियो-वीडियो क्लिप तथा फोन रिकॉर्ड के माध्यम से धमकी देने वालों के बारे में जानकारी हासिल की जा रही है। जल्द ही वे लोग सलाखों के पीछे होंगे। इससे पूर्व बुधवार को विदेश यात्रा पर रवाना होने से पूर्व देवकीनन्दन ठाकुर ने कहा, ‘‘मैं अब पीछे नहीं हटूंगा।

इसी मुद्दे के लिए ‘अखण्ड भारत मिशन’ का गठन किया गया है। वस्तुत: हम व्यक्ति विशेष अथवा किसी समाज के खिलाफ नहीं हैं। लेकिन यदि एक वर्ग का भला करने के चक्कर में दूसरों के आत्मसम्मान को चोट पहुंचाने का प्रयास किया जाता है, समाज को बांटने की कोशिश की जाती है तो उसका विरोध अवश्य किया जाएगा।’’

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App