ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: सपा विधायक समेत 15 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज, सिपाही को बांधकर पीटने का आरोप

गुन्नौर थाना क्षेत्र के बबराला कस्बे में अपहरण के एक मामले की पड़ताल के लिए सत्येन्द्र सिंह और महबूब अली नामक सिपाही मौके पर पहुंचे थे।

Author सम्भल | September 23, 2016 6:50 PM
उत्तर प्रदेश के सम्भल जिला। (गूगल मैप)

उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले में एक सिपाही को घर में बंधक बनाकर उससे मारपीट करने के आरोप में समाजवादी पार्टी (सपा) विधायक राम खिलाड़ी यादव समेत 15 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस अधीक्षक सभाराज यादव ने बताया कि गुरुवार (22 सितंबर) को गुन्नौर थाना क्षेत्र के बबराला कस्बे में अपहरण के एक मामले की पड़ताल के लिए सत्येन्द्र सिंह और महबूब अली नामक सिपाही मौके पर पहुंचे थे। मामले के मुताबिक वासुदेव नामक व्यक्ति ने शादी कराने के नाम पर धन के लेन-देन को लेकर सतीश नाम के शख्स का अपहरण कर लिया था। उन्होंने बताया कि सतीश के पिता ने पुलिस को सूचना दी थी कि उनका बेटा और उसका अपहरण करने वाला वासुदेव विधायक राम खिलाड़ी यादव के घर पर सुलह के लिए बुलाई गई पंचायत में मौजूद हैं।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दोनों सिपाही विधायक के घर पहुंचे और वासुदेव को पकड़ने की कोशिश की। इस पर वह विधायक के घर के अंदर घुस गया। उसे पकड़ने के लिए सिपाही सत्येन्द्र भी पीछे दौड़ा, जबकि दूसरा सिपाही बाहर ही खड़ा रहा। उन्होंने बताया कि सिपाही सत्येन्द्र का आरोप है कि विधायक और उनके समर्थकों ने उसे कमरे में बंद कर दिया और उससे मारपीट की, जबकि दूसरे सिपाही को भगा दिया।

गुन्नौर के पुलिस क्षेत्राधिकारी सुरेश बाबू यादव ने बताया कि सिपाही सत्येन्द्र सिंह की तहरीर पर विधायक राम खिलाड़ी यादव, उनके समर्थक कुंवर पाल, पप्पू, विजेंद्र, सत्यवीर और सुधीर कुमार शर्मा के खिलाफ नामजद तथा 10 अन्य व्यक्तियों के खिलाफ बंधक बनाने और मारपीट करने के आरोपों में गुरुवार देर रात मामला दर्ज कर लिया गया। उन्होंने बताया कि सिपाही सत्येन्द्र के खिलाफ भी सपा विधायक के घर में घुसकर गाली-गलौज कर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करने के आरोप में मामला दर्ज कराया गया है। सपा विधायक राम खिलाड़ी यादव से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सिपाही एक व्यक्ति को जबरन पकड़कर ले जा रहा था जबकि उसके खिलाफ कोई वारंट भी नहीं था। उनके खिलाफ साजिशन झूठा और मनगढ़ंत मामला बनाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App