ताज़ा खबर
 

UP फूलपुर, गोरखपुर उपचुनाव नतीजे 2018: नतीजे देख झूमे सपा-बसपा के कार्यकर्ता, दिया ‘बुआ भतीजा जिंदाबाद’ का नया नारा

UP Phulpur, Gorakhpur Lok Sabha Bypoll Election Result 2018 (उप फूलपुर, गोरखपुर लोक सभा उपचुनाव नतीजे 2018): सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इन उपचुनावों से पहले कहा था कि अगर बसपा के साथ इसमें हमें बेहतर परिणाम नजर आएंगे तो भविष्य में हम साथ मिलकर आगे के चुनाव भी लड़ सकते हैं।

फोटो सोर्स- ANI

उत्तर प्रदेश के दो लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी लगभग हार रही है। फूलपुर में जहां सपा के नागेंद्र पटेल मतगणना के 16वें राउंड के बाद 27,327 वोटों से आगे चल रहे हैं वहीं गोरखपुर में भी समाजवादी पार्टी के प्रवीण कुमार निषाद बीजेपी के उपेंद्र शुक्ला से 23 हजार वोटों से बढ़त बनाए हुए हैं। इस उपचुनाव में 25 साल बाद पहली बार बसपा और सपा एक साथ नजर आए। इस बार बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को समर्थन देने का खुला ऐलान कर सबको चौंका दिया था। माना जा रहा था कि बसपा सुप्रीमो का यह फैसले को उनके कार्यकर्ताओं को असहज कर सकता है। लेकिन फूलपुर में बसपा समर्थित सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल को जीतता देख दोनों ही पार्टियों के समर्थकों खुशी से झूमते नजर आए। सपा प्रत्याशी के भारी बढ़त बनाने के बाद मतगणना केंद्र के बाहर दोनों ही दलों के कार्यकर्ता एक साथ नजर आए। सपा की लाल टोपी लगाए कार्यकर्ताओं ने जहां मायावती जिंदाबाद के नारे लगाएं तो वहीं हाथों में बसपा का झंडा थामे कार्यकर्ता समाजवाद की जयकार करते दिखे।  इन कार्यकर्ताओं ने उपचुनाव के नतीजे देख एक नया नारा दिया। ये नया नारा था- बुआ भतीजा जिंदाबाद।

बता दें कि जहां समाजवादी पार्टी के कई बड़े नेता मायावती के लिए बड़े कठोर शब्दों का इस्तेमाल करते रहे हैं वहीं प्रदेश के पूर्व सीएम और सपा मुखिया अखिलेश यादव उन्हें हमेशा बुआ कहकर संबोधित करते दिखे हैं। विरोधी दलों ने भी सपा-बसपा की सरकार को बुआ-भतीजे की सरकार कहते हुए जमकर हमला बोला था। अब इन नतीजों को देख दोनों दलों के कार्यकर्ताओं ने बुआ भतीजा जिंदाबाद का नारा बुलंद कर दिया है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इन उपचुनावों से पहले कहा था कि अगर बसपा के साथ इसमें हमें बेहतर परिणाम नजर आएंगे तो भविष्य में हम साथ मिलकर आगे के चुनाव भी लड़ सकते हैं। उधर मायावती ने भी साफ किया है कि वह भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए सपा क्या किसी के साथभी जा सकती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App