Sopore(J&K) encounter: Two terrorists gunned down by security forces, two weapons recovered. Operation underway - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों ने घेरकर ढेर किए दो आतंकवादी

उनके पास से दो हथियार बरामद हुए हैं।

सांकेतिक तस्वीर (Express Photo)

जम्मू-कश्मीर के सोपोर जिले में बुधवार सुबह सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए। उनके पास से दो हथियार बरामद हुए हैं। सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी थी। यह सोपोर के पजलपोर इलाके में चल रही थी। यह अॉपरेशन संयुक्त तौर पर सोपोर पुलिस, एसओजी और भारतीय सेना की 22 राष्ट्रीय राइफल्स चला रहे थे।

इससे पहले सेना ने 16 जून को पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर जूनैद अहमद मट्टू को मुठभेड़ में मार गिराया था। पुलिस ने 17 जून को बताया था कि मट्टू उन 12 खूंखार आतंकियों में शामिल था, जिसकी लिस्ट सुरक्षाबलों ने पिछले महीने जारी की थी। जुनैद मट्टू के ऊपर 10 लाख रुपए का इनाम था जोकि कुलगाम के खुदवानी का ही रहने वाला था। सूत्रों के अनुसार मट्टू कश्मीर में भारतीय सेना पर किए गए कई हमलों में शामिल था। वहीं स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) और सीआरपीएफ द्वारा चलाए गए संयुक्त ऑपरेशन में दो अन्य आतंकियों को भी मार गिराया था। ये तीनों आतंकी अनंतनाग स्थित अरवानी गांव के एक घर में छिपे थे।

बीते शुक्रवार को लश्कर आतंकी मट्टू के मारे जाने के बाद राज्य के दूसरे में हिस्से में स्टेशन हाउस ऑफिसर सहित छह पुलिसकर्मियों को हत्या कर दी थी। सूत्रों के अनुसार पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद आतंकियों ने उनके शवों के साथ बर्बरता भी की। आतंकियों ने ये बड़ा हमला दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के अच्छाबल में किया था। इस दौरान पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी से वापस शाम सात बजे सुमो में लौट रहे थे तब घात लगाकर बैठे आतंकियों ने पुलिस पेट्रोल टीम पर हमला बोला और अंधाधुंध फायरिंग कर 6 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी।  इस हमले की जिम्मेदारी लश्कर ने ली थी। मई में जम्मू कश्मीर के त्राल में हुए एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने हिजबुल कमांडर सबजार को मार गिराया था। इसके बाद राज्य में इंटरनेट सर्विसेज बंद कर दी गई थीं। पिछले साल जुलाई में आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद सबजार को टॉप कमांडर बनाया गया था।

जम्मू-कश्मीर: आतंकियों ने आर्मी अफसर उमर फयाज का अपहरण कर की हत्या, रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने बताया- "कायरता का एक भयानक कृत्य", देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App