कांग्रेस के ट‍िकट पर चुनाव लड़ेंगी सोनू सूद की बहन मालविका? चुनाव प्रचार से म‍िले संकेत

सोनू सूद की बहन मालविका सूद ने पंजाब में अपना चुनावी अभियान शुरू कर दिया है। मोगा के दौरे पर सोनू सूद के साथ मालविका पहुंचीं थीं। इस दौरान उनके साथ स्थानीय कांग्रेस नेता भी मौजूद थे।

sonu sood, punjab election, sonu sood congress
मोगा में अपनी बहन के साथ सोनू सूद (फोटो- @IqbalSinghkhai1)

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद की बहन मालविका सूद के कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने की प्रबल संभावना सामने आ रही है। राजनीति में आने की घोषणा के एक दिन बाद मालविका ने मोगा इलाके में चुनाव प्रचार शुरू कर दिया।

मालविका के साथ कांग्रेस के स्थानीय नेता मौजूद थे। जिससे ये अटकलें लगाईं जा रही है कि वो कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ सकती हैं। एचटी के अनुसार सोमवार को उन्होंने सोनू, जिला योजना बोर्ड के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह चारिक और पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष बाबू सिंह के साथ आगामी विधानसभा चुनावों के लिए कम से कम 10 गांवों का दौरा किया।

रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन में सोनू सूद ने घोषणा की थी कि उनकी 39 वर्षीय बहन मालविका चुनाव लड़ेंगी। उन्होंने अपने गृहनगर के लिए वरीयता दिखाते हुए उस पार्टी के नाम का खुलासा करने से इनकार कर दिया, जिसमें वह शामिल होंगी और जिस सीट से वह चुनाव लड़ेंगी। मालविका के सियासी प्रचार के चलते मोगा विधायक हरजोत कमल को अपने टिकट पर खतरा मंडरा रहा है।

जिला कांग्रेस इकाई के सूत्रों ने कहा कि मोगा नगर निगम चुनाव में विधायक की पत्नी चुनाव हार गईं थीं। इससे पार्टी के भीतर उनकी स्थिति कमजोर हो गई है। उनकी पत्नी राजिंदर कौर मेयर पद के लिए उम्मीदवार थीं। जहां वो शिरोमणि अकाली दल की उम्मीदवार हरविंदर कौर गिल से हार गईं थीं। इसके अलावा, कांग्रेस ने कुल 50 वार्डों में से केवल 20 पर जीत हासिल की।

इंद्रजीत सिंह चारिक ने इस प्रचार अभियान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सोनू और मालविका मेरे लिए परिवार की तरह हैं। हम हमेशा एक दूसरे के लिए खड़े रहे हैं। मैं सोनू और मालविका के साथ गांवों में गया था, ताकि वंचितों और जरूरतमंदों की मदद की जा सके। ये राजनीतिक दौरा नहीं था, हम सामाजिक कारणों से वहां थे।

इस अभियान के दौरान मीडिया से बात करते हुए सोनू सूद ने कहा कि गांवों में ऐसे कई लोग हैं, जिन्हें मदद की जरूरत है, लेकिन उन्हें कोई रास्ता नहीं मिल रहा है। इसलिए हमारा मकसद उन लोगों को ढूंढना है जो लोगों की मदद करने की जिम्मेदारी ले सकें।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
जन चेतना पार्टी ने 19 प्रत्याशियों की सूची जारी की
अपडेट