ताज़ा खबर
 

काशी हिंदू विश्वविद्यालय में सौर ऊर्जा केंद्र बनेगा

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति डा. गिरीश चन्द्र तिवारी ने बताया कि मिर्जापुर के बरकछा में स्थित दक्षिणी परिसर में सौर ऊर्र्जा केंद्र बनाया जाएगा।
Author मिर्जापुर | January 13, 2016 23:09 pm
काशी हिंदू विश्वविद्यालय। (फाइल फोटो)

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति डा. गिरीश चन्द्र तिवारी ने बताया कि मिर्जापुर के बरकछा में स्थित दक्षिणी परिसर में सौर ऊर्र्जा केंद्र बनाया जाएगा। यहां छात्रों को शोध करने का मौका मिलेगा। इस परियोजना पर जापान सरकार से बातचीत चल रही है। कुलपति यहां दक्षिणी परिसर कैंपस में मंगलवार रात एडवाइजरी कमेटी की बैठक में आए थे। उन्होंने बताया कि दक्षिणी परिसर के 280 एकड़ में सौर ऊर्जा केंद्र स्थापित होगा। इसके लिए जापान सरकार से बातचीत चल रही है। यह केंद्र पूरी तरह बीएचयू का हिस्सा होगा। इससे छात्रों को शोध करने का मौका मिलेगा। इससे सौर ऊर्जा क्षेत्र में बढ़ोतरी लाई जा सकेगी। इस केंद्र के जरिये पूर्वांचल के कई जिलों की ऊर्जा समस्याओं का कुछ समाधान हो पाएगा।

एडवाइजरी कमेटी के साथ मीटिंग में हुए निर्णयों के संबंध में उन्होंने बताया कि दक्षिणी परिसर के विकास का खाका खींचा गया है। इसके तहत परिसर में जल्द पशु चिकित्सा विज्ञान संकाय और दीनदयाल उपाध्याय कौशल विकास केंद्र की स्थापना प्रमुख है। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय के शताब्दी वर्ष में दक्षिणी परिसर को नई ऊंचाइयों तक ले जाने का प्रयास करने का संकल्प लिया गया है।

कुलपति ने बताया कि स्थानीय जन समुदाय की जरूरतों को ध्यान में रखकर दीनदयाल उपाध्याय कौशल विकास योजना शुरू की जा रही है। साथ ही साथ रोजगारपरक पाठ्यक्रम को मजबूती प्रदान करने पर भी बल दिया गया है। मालूम हो कि मिर्जापुर से नौ किलोमीटर दूर विंध्यपर्वत पर 2860 एकड़ क्षेत्रफल में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय ने दक्षिणी परिसर स्थापित किया है। इसका नामकरण राजीव गांधी दक्षिणी परिसर किया गया है। वर्तमान में यहां तीन हजार छात्र-छात्राएं अध्ययन कर रही हैं। यहां ज्यादातर व्यावसायिक एवं रोजगारपरक पाठ्यक्रम हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.