ताज़ा खबर
 

बर्फबारी से कश्मीर घाटी में ठप हुई इंटरनेट सेवा

जम्मू कश्मीर की कश्मीर घाटी में बर्फबारी के कारण सोमवार को कश्मीर में करीब तीन घंटा तक इंटरनेट सेवा प्रभावित रहा। वहीं राजस्थान के कई हिस्सों में उत्तर-पूर्वी हवाओं के चलने से न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है.
Author श्रीनगर/जयपुर | January 4, 2016 23:21 pm
कश्मीर (फाइल फोटो)

जम्मू कश्मीर की कश्मीर घाटी में बर्फबारी के कारण सोमवार को कश्मीर में करीब तीन घंटा तक इंटरनेट सेवा प्रभावित रहा। वहीं राजस्थान के कई हिस्सों में उत्तर-पूर्वी हवाओं के चलने से न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। सीकर में न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कश्मीर घाटी में बर्फबारी के कारण सोमवार को कश्मीर में करीब तीन घंटा तक इंटरनेट सेवा प्रभावित रहा। अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर के लगभग सभी इलाकों में सोमवार सुबह हल्की से लेकर भारी बर्फबारी होने के कारण लैंडलाइन पर ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवा और मोबाइल इंटरनेट सेवा दोनों बाधित रही। मोबाइल फोनों पर इंटरनेट सेवा आंशिक रूप से काम कर रही है। लेकिन इसकी गति काफी धीमी है। एक व्यापारी इरफान अहमद ने बताया, ‘मैं अपने ब्रॉडबैंड कनेक्शन या डोंगल के जरिए इंटरनेट हासिल नहीं कर पा रहा हूं। सेवा में बाधा के कारण के बारे में पूछताछ करने पर भी दूरसंचार कंपनियां सवालों का जबाव नहीं दे रही हैं।’ तीन घंटों तक बाधित रहने के बाद इंटरनेट सेवा बहाल हो गई।

मौसम विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि चूरू में न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस, श्रीगंगानगर में आठ डिग्री, टोंक में 8.8 डिग्री, सवाईमाधोपुर में नौ डिग्री, पिलानी में 9.1 डिग्री सेल्सियस, उदयपुर में 9.8 डिग्री, राजधानी जयपुर में 10 डिग्री, कोटा में 12.8 डिग्री, और जैसलमेर में 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं पड़ोसी राज्यों पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली में पड़ रहे कोहरे के कारण उत्तर-पश्चिम रेलवे की दस सवारी गाडियां 55 मिनट से सात घंटे तक की देरी से चल रही हैं। एक सवारी गाड़ी के प्रस्थान समय में बदलाव किया गया है।

उत्तर-पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी तरुण जैन ने बताया कि जम्मूतवी-अजमेर सात घंटे, सियालदाह-अजमेर सवा छह घंटे, गुवाहटी-बाडमेर छह घंटा 10 मिनट, हावडा-श्रीगंगानगर पांच घंटा 50 मिनट, की देरी से चलीं। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान प्रदेश में बादल छाए रहने की संभावना जताई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.