ताज़ा खबर
 

स्पेशल इंजीनियरिंग टूल्स इस्तेमाल कर विमान के टॉयलेट पैनल में छिपाई विदेशी करेंसी, बीच हवा में ही पैनल कर दिया ओपन

इंडिगो एयरलाइंस से बेंगलुरु के केम्पेगौडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लौटे दो स्मगलर्स को रेवेन्यू इंटेलिजेंस टीम ने हिरासत में लिया। जानकारी के मुताबिक आरोपियों ने विमान के टॉयलेट में सोना छिपाया था।

प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- जनसत्ता

बेंगलुरु के केम्पेगौडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर रेवेन्यू इंटेलिजेंस टीम ने दो स्मगलर्स को हिरासत में लिया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक आरोपी स्मगलर इंडिगो एयरलाइन में सवार थे। आरोपी सिंगापुर से अहमदाबाद होते हुए बेंगलुरु पहुंचे थे। जांच के दौरान पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि स्पेशल इंजीनियरिंग टूल्स की मदद से उन्होंने विमान के टॉयलेट में  विदेशी करेंसी छिपाई। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि वह महाराष्ट्र के ठाणे के उल्हासनगर में एक गैंग के साथ मिलकर काम करते हैं।

स्पेशल टूल्स का इस्तेमाल नयाः डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस के एक अधिकारी ने बताया कि स्मगलिंग की घटनाएं तो आम बात है, लेकिन सोना और विदेशी करेंसी को छिपाने के लिए स्पेशल टूल्स का इस्तेमाल एक नई चीज है। ऐसा पहले कभी सुनने को नहीं मिला है। यही नहीं इस तरह के टूल्स का इस्तेमाल फ्लाइट में खरतनाक साबित हो सकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस तरह का मामला सामने आने के बाद इस संबंध में ध्यान दिए जाने की जरूरत है।
National Hindi News, 10 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

भागने की फिराक में था आरोपीः डीआरआई (डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस) के सदस्य ने बताया कि जांच के दौरान पकड़ा गया पहला आरोपी बेंगलुरु एयरपोर्ट से निकलने की फिराक में था तभी डीआरआई की टीम ने उसे धर दबोचा और उसे हिरासत में ले लिया।बता दें कि  आरोपी के पास से 2.5 किलो सोने की बिस्किट भी बरामद किए गए हैं।

दूसरे आरोपी को भी पकड़वायाः बेंगलुरु एयरपोर्ट पर पकड़े गए पहले आरोपी की पहचान डेनियल भंबानी के रूप में की गई। आरोपी मुंबई में स्मगलिंग का काम करता है। जब जांच अधिकारियों द्वारा आरोपी डेनियल से सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने दूसरे आरोपी के बारे में जानकारी दी। दूसरे आरोपी की पहचान पकंज के रूप में की गई है। पकंज अपने साथी डेनियल के साथ विमान में स्मगलिंग का सामान छिपाने के बाद सिंगापुर लौटने की फिराक में था।

 

यूं छिपाया सामानः आरोपियों ने जांच अधिकारी को बताया कि उन्होंने स्पेशल टूल्स की मदद से विमान के एयरक्राफ्ट टॉयलेट पैनल को खोला और फिर उसमें लगभग डेढ़ करोड़ रुपए छिपा कर उसे काले टेप से बांध दिया जिससे किसी को शक न हो।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App