X

भाई के कत्‍ल के बाद बना था अपराधी, 18 साल में पहली बार हुआ गिरफ्तार, राजद जिलाध्‍यक्ष की हत्‍या का भी है केस

बिहार के भागलपुर में दुर्दांत इनामी बदमाश सत्तन यादव को नाथनगर इलाके से पुलिस की एसआईटी ने दबोच लिया।

बिहार के भागलपुर में दुर्दांत इनामी बदमाश सत्तन यादव को नाथनगर इलाके से पुलिस की एसआईटी ने दबोच लिया। एसएसपी आशीष भारती ने सोमवार को पत्रकारों को बताया कि इसकी गिरफ्तारी पुलिस के लिए कई सालों से चुनौती बनी हुई थी। अपराध की दुनिया में कदम रखने के बाद अबतक यह पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा था। और सिरदर्द बना था। एसएसपी ने बताया कि पुलिस उससे गहन पूछताछ कर रही है। उम्‍मीद है कि उससे पूछताछ के बाद कई जघन्‍य अपराधों के सुराग मिलेंगे। सत्‍तन यादव पर जिले के विभिन्न थानों में हत्या, लूट, रंगदारी, विस्फोटक पदार्थ रखने आदि आरोपों वाले दो दर्जन से ज्यादा संगीन मामले दर्ज हैंं। उस पर राजद के तत्कालीन ज़िला अध्यक्ष लक्ष्मीकांत यादव और इनके भाई मनोहर यादव की हत्या के साथ-साथ पुलिस दल पर बमों से हमला करने का भी आरोप है। उसके ऊपर पुलिस ने जिंदा या मुर्दा पकड़वाने के लिए पच्चीस हजार रुपए का इनाम घोषित कर रखा था।

सत्तन नाथनगर थाना क्षेत्र के राघोपुर टिकर का रहने वाला है। उसने साल 2000 में पैर में गोली लगने और सगे भाई की हत्या के बाद अपराध की दुनिया में कदम रखा था। यह बात वह खुद भी कबूलता है। इसके भाई की हत्या ग़ांव की किसी लड़की को छेड़छाड़ करने की वजह से हुई थी। रंगदारी से शुरू हुई इसकी दुनिया के 18 साल का सफर पूरा करते करते इसे जमीन के धंधे में पहुंचा दिया। फिर भी मगर अभी तक पुलिस के जाल में नहीं फंसा था।

दिलचस्प बात कि पुलिस रेकार्ड में इसकी कोई फोटो भी नहीं थी। एसएसपी बताते है कि इसकी गिरफ्तारी पुलिस के लिए चुनौती बनी थी। इसी वजह से सिटी डीएसपी राजवंश सिंह के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया था। गुप्त सूचना और तकनीकी सेल की मदद से इसे गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली। पुलिस तहकीकात जारी है।

एसएसपी ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में लूट के एक मामले का पटाक्षेप करने की भी घोषणा की। पश्चिम बंगाल के कूचबिहार में स्टेट बैंक के प्रबंधक शशिकुमार शर्मा के साथ दस जुलाई को अपने घर सुलतांगज जाने के दौरान लूट हुई थी। इस मामले में ऑटो चालक सनी कुमार समेत चार लुटेरों को नाथनगर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से पुलिस ने उनसे लुटे गए सामान के अलावे 21 मोबाईल , दो एटीएम व चार बैंक पासबुक बरामद किए है। एसएसपी के मुताबिक यह गिरोह साइबर अपराध से भी जुड़ा है। इनसे पूछताछ जारी है।