दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर लाठीचार्ज, किसानों को रोकने पर हुआ विवाद; लखबीर की हत्या को लेकर कर रहे थे प्रदर्शन

सिंघु बॉर्डर पर बुधवार को एक बार फिर तब हंगामा मच गया जब निंहग सिखों द्वारा मारे गए लखबीर के परिवार के साथ कुछ लोग वहां हवन करने के लिए पहुंच गए। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड्स तोड़ने की कोशिश की, जिन्हें रोकने के लिए पुलिस ने बल प्रयोग किया।

singhu border, nihang, farmer protest, lakhbir singh
किसानों को रोकने के लिए सिंघु बॉर्डर पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज (फाइल फोटो पीटीआई)

सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे हैं किसानों के साथ पुलिस की एक बार फिर झड़प हो गई। इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज भी किया। किसान, लखबीर सिंह के परिवार को न्याय देने की मांग को लेकर यहां प्रदर्शन कर रहे थे।

पुलिस के अनुसार कुछ लोगों ने बुधवार को सिंघु बॉर्डर के पास बैरिकेडिंग तोड़ने की कोशिश की। इसी दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार जिस पंजाबी युवक लखबीर सिंह की पिछले दिनों बेअदबी का आरोप लगाकर निहंग सिखों ने हत्या कर दी थी। उसी को लेकर यूपी-उत्तराखंड के किसान लखबीर सिंह मामले में न्याय को लेकर सिंघु बॉर्डर पहुंचने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने इन्हें पहले तो रोकने की कोशिश की, फिर जब बैरिकेडिंग तोड़ने की कोशिश की गई तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।

न्यूज 18 इंडिया से बात करते हुए इस समूह के नेतृत्व कर रहे एक किसान ने कहा कि जबतक पीड़ित पक्ष को न्याय नहीं मिल जाता, हम अपनी मांग दमदार तरीके से उठाते रहेंगे। यही रहेंगे हम, यहां से नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा- चाहे गोली चल जाए, लेकिन पीड़ित को न्याय मिलना चाहिए। लखबीर सिंह हत्या की सीबीआई जांच होनी चाहिए। पीड़ित पक्ष को 50 लाख की मदद मिलनी चाहिए और पीड़ित परिवार को सरकारी नौकरी दे”। ये मांगे उन्होंने पंजाब सरकार से की।

मीडिया से बात करने के दौरान इन्होंने दावा किया कि लखबीर सिंह का परिवार भी इनके साथ यहां आया है। इन्होंने अपने आप को हिन्द मजदूर किसान समिति से संबंधित बताया और कहा कि इनके संगठन ने पीड़ित परिवार को एक लाख रुपये भी दिया है। इनके अनुसार पीड़ित परिवार ने खुद इनसे मदद मांगी है, जिसके बाद उन्होंने सिंघु बॉर्डर पर पीड़ित परिवार के साथ पहुंचने का निर्णय लिया।

इससे पहले हिन्द किसान मजदूर समिति ने पीड़ित परिवार के साथ मुजफ्फरनगर से सिंघु बॉर्डर के लिए कूच किया था। इनका मकसद सिंघु बॉर्डर पर जिस जगह लखबीर सिंह की हत्या हुई थी, वहीं पर हवन करना है। यही करने की कोशिश बुधवार शाम को की गई, जहां पुलिस ने इन्हें रोकने के लिए बल का प्रयोग किया।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
आरटीआइ के तहत सूचना मांगने की वजह बताएं: मद्रास हाई कोर्ट1975 LN Mishra Murder Case
अपडेट