X

वी. शांताराम और लक्ष्‍मीकांत-प्‍यारेलाल के साथ काम कर चुका है यह दिग्‍गज, अब सड़क पर मांग रहा भीख

फोन लाइन पर वह बोले, "मैंने लाल जी को सड़कों पर देखा था। मुझे महसूस हुआ कि अगर ऐसे बड़े कलाकार भीख मांगेंगे, तो हम जैसों पर लानत हैं। मैंने इस बारे में और लोगों को बताया। आज अगर मदद भी करनी पड़ेगी, तो मैं उन्हें अपने घर पर रखने को तैयार हूं।"

सिर पर टोपी, चेहरे पर सफेद दाढ़ी। पुराने-मैले कपड़े और पैरों में चप्पल। यह हैं 75 वर्षीय केशव लाल। आर्थिक हालत के कारण 32 सालों से सड़कों पर भीख मांगने को मजबूर हैं। झोला और हारमोनियम टांग कर लोगों को गाना सुनाते हैं। लेकिन किसी के आगे हाथ नहीं फैलाते। जो मिल जाता, उसे रख लेते हैं। पत्नी भी उस दौरान इनके साथ रहती हैं। लाल अपने जमाने के नामी म्यूजीशियन रहे हैं। वह मशहूर मराठी फिल्मकार वी.शांताराम और लक्ष्मीकांत शांताराम कुदलकर व प्यारेलाल रामप्रसाद शर्मा (लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल) की जोड़ी के साथ तक काम कर चुके हैं। म्यूजिक इंडस्ट्री में बुलंदियों तक पहुंचे। मगर हालात ने कुछ ऐसी करवट ली कि वे सड़क पर आ पहुंचे।

आज वह म्यूजिक इंडस्ट्री का एक गुमनाम नाम हैं। फिर भी उन्होंने संघर्ष जारी रखा। संगीत से लगाव नहीं छोड़ा। जाने-माने बॉलीवुड-पंजाबी सिंगर मीका को कुछ रोज पहले उनके बारे में पता लगा, जिसके बाद उन्होंने इंडियन आइडल की टीम को बताया। हाल ही में इंडियन आइडल-10 के मंच पर लाल और उनके संघर्ष के बारे में बताया गया।

इतना ही नहीं, शो के मंच पर लाल व उनकी पत्नी को आमंत्रित किया गया था। संगीत से लगाव रखने वाले इस बुजुर्ग कलाकार ने बताया, “हम सब तब कलाकार थे। लेकिन तब हमारा परिवार उजड़ गया। मैं अकेला बच गया।” लाल के बारे में जानकर सभी जजेज (नेहा कक्कड़, विशाल ददलानी और अनु मलिक) की आंखें भर आईं। ऐसे में तीनों ने लाल की मदद के लिए एक-एक लाख रुपए देने का ऐलान किया। वहीं, मीका को भी फोन मिलाया गया और लाल से उनकी बात करागई गई।

फोन लाइन पर वह बोले, “मैंने लाल जी को सड़कों पर देखा था। मुझे महसूस हुआ कि अगर ऐसे बड़े कलाकार भीख मांगेंगे, तो हम जैसों पर लानत हैं। मैंने इस बारे में और लोगों को बताया। आज अगर मदद भी करनी पड़ेगी, तो मैं उन्हें अपने घर पर रखने को तैयार हूं।” लाल ने इसके बाद मंच पर हारमोनियम बजा कर ‘आवारा हूं…’ गाना भी सुनाया। लाल कई सालों से पुणे में रह रहे हैं। उनके लिए संगीत सबसे मायने रखता है।

Outbrain
Show comments