scorecardresearch

गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को झटकाः पाटीदार नेता हार्दिक पटेल का इस्तीफा, बोले- सिर्फ विरोध की राजनीति तक सीमित रह गया है दल

कुछ समय पहले उन्होंने कहा था, “मुझे पीसीसी की किसी भी बैठक में आमंत्रित नहीं किया जाता है, कोई भी निर्णय लेने से पहले वे मुझसे सलाह नहीं लेते हैं, तो कार्यकारी अध्यक्ष पद का क्या मतलब है?”

Hardik Patel Resign, Hardik Patel left congress
अहमदाबाद में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान चिंतन मुद्रा में हार्दिक पटेल। (फोटो- निर्मल हरिंद्रन इंडियन एक्सप्रेस)

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को जोरदार झटका लगा है। पार्टी के युवा नेता और कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने बुधवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। वे पिछले कुछ समय से नाराज चल रहे थे। उनका आरोप है कि पार्टी में उनके लिए अब कोई काम नहीं रह गया है। कुछ दिन पहले ही उन्होंने अपनी नाराजगी खुलकर जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि “कांग्रेस में मेरा हाल जैसे नए दूल्हे की नसबंदी करा दी गई हो।” इस घटनाक्रम से पार्टी के अंदर मतभेद और गहरा गया है।

बुधवार को उन्होंने ट्वीटर पर अपने इस्तीफे काे सार्वजनिक करते हुए लिखा, “आज मैं हिम्मत करके कांग्रेस पार्टी के पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूं। मुझे विश्वास है कि मेरे इस निर्णय का स्वागत मेरा हर साथी और गुजरात की जनता करेगी। मैं मानता हूं कि मेरे इस कदम के बाद मैं भविष्य में गुजरात के लिए सच में सकारात्मक रूप से कार्य कर पाऊँगा।”

हार्दिक पटेल के इस्तीफे के बाद गुजरात में सियासी चर्चे तेज हो गए हैं। उनका अगला कदम क्या होगा, इस पर तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं, लेकिन चर्चा भाजपा में शामिल होने की है। हालांकि अभी इस पर हार्दिक पटेल की ओर से कोई बयान नहीं आया है।

हार्दिक पटेल ने इस्तीफा देने के थोड़ी देर बाद टि्वटर पर प्रोफाइल फोटो भी बदल लिया। पहले उन्होंने वह फोटो लगा रखा था, जिसमें कांग्रेस चुनाव चिह्न पंजा भी साथ नजर आ रहा था पर मौजूदा फोटो में वह हाथ बांधे नजर आ रहे हैं।

इससे पहले उन्होंने कहा था कि उन्हें राहुल गांधी ने खुद कांग्रेस पार्टी में शामिल किया था और 2020 में कार्यकारी अध्यक्ष बनाया था। युवा पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कहा था, “मुझे पीसीसी की किसी भी बैठक में आमंत्रित नहीं किया जाता है, कोई भी निर्णय लेने से पहले वे मुझसे सलाह नहीं लेते हैं, तो इस पद का क्या मतलब है?”

हार्दिक के कांग्रेस छोड़ने की क्या है वजहें?:

  • कांग्रेस ने राम मंदिर निर्माण में डाली बाधी
  • पार्टी ने 370, सीएए का विरोध किया
  • शीर्ष नेतृत्व में किसी मुद्दे के प्रति गंभीरता नहीं
  • देश लंबे समय से इन मुद्दों का हल चाहता था
  • गुजरात कांग्रेस के बड़े नेता बिक गए हैं- आरोप

कांग्रेस से अलग होने के बाद अब उनके बीजेपी या फिर आप में जाने की अटकल हैं। साथ ही यह भी सवाल उठ गया है कि विधानसभा चुनाव के पहले पार्टी छोड़ने से पहले क्या कांग्रेस को नुकसान होगा?

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X