ताज़ा खबर
 

Bharat Ratna: प्रणब मुखर्जी के नाम को लेकर शिवसेना को आपत्ति, संजय राउत ने दिया ये बयान

प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' देने का ऐलान किया था। उल्लेखनीय है कि नामों के ऐलान के बाद मोदी सरकार पर चुनावी दांव खेलने का आरोप भी लगा है।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले तीन लोगों को ‘भारत रत्न’ दिए जाने का ऐलान किए जाने के बाद देश में राजनीति तेज हो गई है। देश के इस सर्वोच्च नागरिक सम्मान को लेकर भी बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है। अब एनडीए में लंबे समय से भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी शिवसेना ने मोदी सरकार पर सवाल उठाया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने सम्मान के लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के नाम को लेकर सवाल उठाया है।

ये बोले राउतः संजय राउत ने भाजपा की 60 सालों में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया की पार्टी लाइन पर तंज कसते हुए कहा, ‘हम सब के भाषण का यह अहम मुद्दा रहता है कि 60 साल में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया और प्रणब मुखर्जी उसी कांग्रेस कल्चर से आते हैं।’ उल्लेखनीय है कि बीते शुक्रवार प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ देने का ऐलान किया था। उल्लेखनीय है कि नामों के ऐलान के बाद मोदी सरकार पर चुनावी दांव खेलने का आरोप भी लगा है।

असम में भी हुआ विवादः उल्लेखनीय है कि हाल ही में भाजपा के खिलाफ नागरिकता संशोधन बिल को लेकर आवाज उठाने वाले असम के गायक जुबिन गर्ग ने भी ‘भारत रत्न’ के संदर्भ में कथित तौर पर विवादित बयान दिया था। इसके खिलाफ असम से भाजपा नेता सत्यरंजन बोराह ने एफआईआर दर्ज कराई। उनका कहना है कि भारत रत्न को बदनाम करके उन्होंने डॉ भूपेन हजारिका का भी अपमान किया है, जिन्हें लोग असम की आवाज के रूप में जानते हैं और उनके ऊपर गर्व करते हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App