अभी भी खुद को ‘सीएम’ बुलाते हैं शिवराज सिंह चौहान, बस मतलब बदल गया

राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में संख्या बल ने पाने पर उन्होंने राजभवन में इस्तीफा देने के बाद कहा था कि, हार की पूरी जिम्मेदारी तरह से मेरी है। वहीं हार के बाद केंद्र में जाने के सवालों पर उन्होंने कहा, ‘मैं केंद्र में नहीं जाऊंगा।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (फोटो सोर्स : Express File Photo)

मध्य प्रदेश में सत्ता गंवा चुकी भारतीय जनता पार्टी की 15 साल सरकार चलाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अभी भी खुद को ‘सीएम’ बुलाते हैं। अब शिवराज सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट पर दी गई जानकारी को बदल दिया है। पहले उनके बायो में लिखा था कि द चीफ मिनिस्टर ऑफ मध्य प्रदेश। हालांकि उन्होंने अब लिखा है कि द ‘कॉमन मैन’ ऑफ मध्य प्रदेश।

शिवराज सिंह ने कहा, ‘मध्यप्रदेश मेरा मंदिर हैं, और यहाँ की जनता मेरी भगवान। मेरे घर के दरवाज़े आज भी प्रदेश के हर नागरिक के लिए हमेशा खुले हैं, वो बिना कोई हिचकिचाहट मेरे पास आ सकते हैं, और मैं हमेशा की तरह उनकी यथासंभव मदद करता रहूंगा’। चौहान ने मध्य प्रदेश में वनवास खत्म कर आई कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद बुधवार को इस्तीफा दे दिया था।

ट्विटर स्क्रीन शॉट

राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में संख्या बल ने पाने पर उन्होंने राजभवन में इस्तीफा देने के बाद कहा था कि, हार की पूरी जिम्मेदारी तरह से मेरी है। उन्होंने कहा था कि, अब चौकीदार बनने की जिम्मेदारी मेरी है। वहीं हार के बाद केंद्र में जाने के सवालों पर उन्होंने कहा, मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘मैं केंद्र में नहीं जाऊंगा। मैं मध्य प्रदेश में जिऊंगा और मध्य प्रदेश में ही मरूंगा।

वहीं अब शिवराज सिंह ने इसी महीने आभार यात्रा निकालने की बात की है। बता दें कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने बीजेपी के लगातार 15 साल के शासन का अंत किया है। कांग्रेस को 114 और भाजपा को 109 सीटें मिलीं। कांग्रेस बहुमत से दो कदम दूर रह गई लेकिन बसपा और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से अब कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है। कांग्रेस सरकार में कमलनाथ मुख्यमंत्री होंगे।

अपडेट