ताज़ा खबर
 

शिवराज ने किया इशारा तो पुलिस ने बीच बाजार निकाला मनचलों का जुलूस, पूछा- लड़कियों को छेड़ोगे?

मुख्यमंत्री ने पुलिस को आदेश देते हुए कहा है कि गुंडे चिह्नित किए जाएं और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। शिवराज सिंह ने कहा कि उन्हें परिणाम चाहिए और अपराधी कांपते नजर आने चाहिए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस को दिया मनचलों के खिलाफ सख्त कारवाई का आदेश (file photo)

मध्य प्रदेश पुलिस इन दिनों मनचलों और गुंडों के खिलाफ सख्त हो गई है। राज्य में जगह-जगह पुलिस मनचलों और गुंडों को सरेराह पीटती नजर आ रही है। दरअसल, इसके लिए इशारा खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया है। मुख्यमंत्री ने पुलिस को आदेश देते हुए कहा है कि गुंडे चिह्नित किए जाएं और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। शिवराज सिंह ने कहा कि उन्हें परिणाम चाहिए और अपराधी कांपते नजर आने चाहिए। कोई भी मनचला बचना नहीं चाहिए। लोगों में कॉन्फिडेंस जगना बेहद जरूरी है और ये कैसे जगेगा, पुलिस अच्छी तरह जानती है। मुख्यमंत्री का इशारा होना था कि पुलिस मनचलों और गुंडों पर पिल पड़ी है और जगह-जगह उनके खिलाफ कार्रवाई हो रही है।

मध्य प्रदेश पुलिस अब शहरों में गश्त कर रही है और गर्ल्स कॉलेज या गली-नुक्कड़ों पर खड़े मनचलों के खिलाफ एक्शन ले रही है। मजनूं स्क्वॉड को एक्टिवेट कर दिया गया है। अब तक पुलिस अगल-अलग शहरों में कई मनचलों को गिरफ्तार कर चुकी है। इंदौर, बैतूल, छिंदवाड़ा जैसे शहरों में मनचलों पर आफत आ गई है। बैतूल में तो पुलिस ने 15-20 मनचलों को गिरफ्तार कर उनका जुलूस निकाला। जब पुलिस आरोपियों को लेकर थाने पहुंची तो कई महिलाओं ने तालियां बजाकर पुलिस की हौसला अफजाई की। पुलिस ने आरोपियों को चेतावनी देते हुए आगे से ऐसा ना करने की कसम भी खिलायी। महिलाएं पुलिस की इस कार्रवाई से काफी खुश हैं और चाहती हैं कि पुलिस आगे भी मनचलों के खिलाफ ऐसी ही कार्रवाई करती रहे।

गौरतलब है कि साल 2015 के क्राइम रिकॉर्ड के अनुसार, महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में मध्य प्रदेश टॉप पर था। स्टेट क्राइम रिकॉर्ड के अनुसार, वर्ष 2015 में महिलाओं के विरुद्ध राज्य में कुल 25731 मामले दर्ज हुए। इनमें से बलात्कार के 5071 मामले और गैंगरेप के 272 मामले थे। राज्य में इंदौर और भोपाल सबसे असुरक्षित शहर माने जाते हैं। हालांकि, इंदौर और भोपाल पुलिस पिछले कुछ समय से मनचलों और गुंडों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश के रौन जिले में महिला से छेड़छाड़ का विरोध करने पर 2 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। माना जा रहा है कि महिलाओं के लिए सुरक्षित वातावरण देने और मनचलों में डर बैठाने के उद्देश्य से ही मुख्यमंत्री ने पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App