ताज़ा खबर
 

भाजपा की युवा विजय संकल्प महारैली में बोले शिवराज सिंह चौहान, महागठबंधन में दल मिले, दिल नहीं

शिवराज ने मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में चुनाव अजीब हुआ है। प्रदेश में सबसे अधिक मत भारतीय जनता पार्टी को मिले हैं, जबकि सीटें कांग्रेस की अधिक हैं।

शिवराज सिंह ने महागठबंधन को बिना दूल्हे की बारात बताया और कहा कि 22 दल आज तक अपना मुखिया नहीं तय कर पाए।

विपक्षी 22 दलों के महागठबंधन को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भाजपा के खिलाफ बने इस महागठबंधन में केवल दल मिले हैं, नेताओं के दिल नहीं मिले हैं। वे रामलीला मैदान में युवा विजय संकल्प महारैली 2019 को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने महागठबंधन को भानुमति का कुनबा कहा। शिवराज सिंह ने महागठबंधन को बिना दूल्हे की बारात बताया और कहा कि 22 दल आज तक अपना मुखिया नहीं तय कर पाए। उन्होंने महागबंधन की तुलना चींटियों के ऐसे समूह से की जो गन्नों की सूखी खोई कहीं नहीं ले जा पाती। शिवराज ने मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में चुनाव अजीब हुआ है। प्रदेश में सबसे अधिक मत भारतीय जनता पार्टी को मिले हैं, जबकि सीटें कांग्रेस की अधिक हैं। उन्होंने कांग्रेस सरकार को लंगड़ी-लूली बताया और कहा कि यह सरकार कभी भी गिर सकती है।

उन्होंने कहा मध्य प्रदेश में लोकसभा की सभी 27 सीटें भाजपा जीतेगी। उन्होंने दिल्ली के युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि वे पिछले लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी सातों सीटों पर भाजपा को जिताएं। चौहान ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव भ्रष्टाचार के खिलाफ है। केंद्र सरकार ने आम जनता से जुड़ी योजनाएं लागू की हैं। इनमें प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्जवला योजना समेत कई योजनाएं हैं। 2019 के चुनाव से पहले युवा जमीनी स्तर पर लोगों के बीच जाएं और केंद्र की योजनाओं को जनता तक पहुंचाने की कोशिश करें। रैली में मौजूद केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने कहा कि अगर दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) की वापसी होती है तो हालात और बिगड़ेंगे। ‘आप’ सरकार ने दिल्ली को बर्बाद कर दिया है। केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से एक के बाद एक झूठ बोला है। उनकी सरकार ने प्रदूषण व झुग्गी बस्तियों के लिए कोई काम नहीं किया है। इसलिए युवा इस लोकसभा चुनाव में भाजपा को वोट दें और उसे सातों सीटों पर विजयी बनाएं। रैली की अध्यक्षता भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी व युवा मोर्चा अध्यक्ष सुनील यादव ने की। रैली में भाजपा राष्ट्रीय मंत्री अनिल जैन, केंद्रीय मंत्री विजय गोयल, राष्टÑीय उपाध्यक्ष श्यामजाजू, सहप्रभारी तरुण चुग, लोकसभा सह प्रभारी जयभगवान पवैया, मिजोरम प्रभारी पवन शर्मा, सांसद मीनाक्षी लेखी, उदितराज, पार्टी उपाध्यक्ष जय प्रकाश, राजीव बब्बर, मोनिका सिंह समेत अन्य वरिष्ठ नेता उपस्थित थे।

‘पीठ दिखाने वालों की कराई जाएगी जांच’
महारैली में युवाओं ने जीत का संकल्प नहीं लिया। काफी संख्या में युवा मैदान में पहुंचे, लेकिन मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज चौहान के भाषण से पहले ही बाहर चले गए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस पर नाराजगी भी जताई। उन्होंने मंच से कहा कि मैदान में पीठ दिखाने वाले कार्यकर्ताओं की पार्टी स्तर पर जांच की जाएगी। पार्टी इससे पहले भी कई बड़े कार्यक्रमों में ऐसे हालत का सामना कर चुकी है। तिवारी ने कहा कि मैदान से उठकर चले जाना चिंता की बात है। पार्टी इसकी जांच करेगी। बता दें कि जिस समय यह घटना हुई, उस वक्त तिवारी ही युवाओं को संबोधित कर रहे थे और उनके बाद शिवराज सिंह चौहान को बोलना था। इस घोषणा से पहले ही मैदान में इकट्ठा हुए युवा कार्यकर्ता धीरे-धीरे बाहर चले गए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने इसे गंभीरता से लिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली में दिलचस्प होगा शीला और केजरीवाल का मुकाबला
2 जलवायु संकट का असर अगले साल तक दूध उत्पादन पर भी: रिपोर्ट
3 नीरव मोदी घोटाला: पीएनबी के दो कार्यकारी निदेशक बर्खास्त
Padma Awards List
X