ताज़ा खबर
 

शिवपाल के समर्थन में इटावा में धरने पर बैठे समर्थक, मुलायम को सीएम बनाने की कर रहे हैं मांग

शहर के शास्त्री क्रॉसिंग पर शिवपाल के समर्थक टेंट लगाकर पिछली रात से नारेबाजी कर रहे हैं। ये लोग 'शिवपाल सिंह को ससम्मान वापस लाओ' और 'मुलायम सिंह को सीएम बनाओ' का नारा लगा रहे हैं।

शिवपाल सिंह यादव के समर्थक उनके आवास पर नारेबाजी करते हुए

समाजवादी पार्टी की कलह अब मुलायम परिवार के गृह जनपद इटावा भी पहुंच गया है। शिवपाल यादव के समर्थकों ने यहां गलियों में उनके समर्थन में नारेबाजी की और धरने पर बैठ गए। शहर के शास्त्री क्रॉसिंग पर शिवपाल के समर्थक टेंट लगाकर पिछली रात से नारेबाजी कर रहे हैं। ये लोग ‘शिवपाल सिंह को ससम्मान वापस लाओ’ और ‘मुलायम सिंह को सीएम बनाओ’ का नारा लगा रहे हैं। शिवपाल सिंह यादव के विधानसभा क्षेत्र जसवंत नगर के बाजार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के विरोध में बंद है। एसपी कार्यकर्ताओं के विरोध-प्रदर्शन और हंगामे की वजह से शहर की ट्रैफिक व्यवस्था करीब चार घंटे तक बाधित रही। सपाइयों की इस हरकत से पुलिस भी सकते में है। इससे पहले आज सुबह शिवपाल के समर्थक उनके लखनऊ स्थित आवास पर जमा हो गए और पार्टी महासचिव रामगोपाल यादव के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। रामगोपाल यादव ने कल ही अखिलेश को बिना पूछे प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने को एक गलती ठहराया था। गौरतलब है कि गुरुवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात करने के बाद रामगोपाल यादव ने मीडिया से बातचीत में इसे एक गलती ठहराया था। साथ ही अमर सिंह का नाम लिए बिना उनपर निशाना भी साधा था।

शिवपाल ने गुरुवार रात को मंत्रीमंडल और पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, सीएम अखिलेश यादव ने उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है। इस बीच पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह यादव ने इशारा किया कि अखिलेश मंत्रिमंडल से निकाले गए मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को दोबारा मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। इसके थोड़ी देर बाद ही शिवपाल यादव भी मुलायम से मिलने उनके घर पहुंचे। फिलहाल समाजवादी पार्टी में मुलाकातों और अटकलों का सिलसिला जारी है।

Read Also-यूपी: और भड़की यादव परिवार में लगी आग, मुलायम ने अमर सिंह को फोन कर कहा- हद में रहें

देखें वीडियो एनालिसिस: समाजवादी पार्टी में चल रही खींचतान का अंजाम क्या होगा? 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App