ताज़ा खबर
 

शर्मनाक: अब मथुरा की शिवानी को देनी पड़ी ‘अग्निपरीक्षा’

चश्मदीद ग्रामीणों से मालूम हुआ कि यह अग्निपरीक्षा शिवानी के पति जयवीर को भी देनी थी। लेकिन उसने हाथ पर अंगारे रखे जाते ही उलट-पुलट कर नीचे फेंक दिए। उसकी पत्नी को अंगारे तब तक रखने पड़े, जब तक कि वहां मौजूद फैसला करने वाले लोग संतुष्ट नहीं हो गए।

Author October 26, 2018 3:35 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

त्रेता युग में चारित्रिक लांछन लगने पर राम की सीता को अग्निपरीक्षा देनी पड़ी थी। अब इस रोशनखयाल काल में मथुरा की शिवानी को अग्निपरीक्षा देनी पड़ी और वह भी सीता की तरह अपना ‘सतीत्व’ साबित करने में सफल रही। हालांकि उसका पति इस अंगारेभरे इम्तहान में फेल हो गया। नए जमाने की आंखें खोल देने वाली यह घटना गुजरे हफ्ते भरी पंचायत के सामने हुई। अब पुलिस अग्निपरीक्षा के गुनहगारों को तलाश रही है।

पुलिस के अनुसार, मथुरा के गांव मजरा नगला बरी में एक महिला ओझा के कहने पर बहू शिवानी को अपने सतीत्व की परीक्षा देने के लिए पंचों के सामने हाथ पर जलते हुए अंगारे रखकर दिखाने पड़े। इससे उसकी दोनों हथेलियां गंभीर रूप से जल गर्इं। मामले में पति समेत छह लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई है। घटना पिछले हफ्ते की है, लेकिन इसकी सूचना पुलिस को अब मिली है।

चश्मदीद ग्रामीणों से मालूम हुआ कि यह अग्निपरीक्षा शिवानी के पति जयवीर को भी देनी थी। लेकिन उसने हाथ पर अंगारे रखे जाते ही उलट-पुलट कर नीचे फेंक दिए। उसकी पत्नी को अंगारे तब तक रखने पड़े, जब तक कि वहां मौजूद फैसला करने वाले लोग संतुष्ट नहीं हो गए। हाथरस जिले के थाना सादाबाद क्षेत्र के गांव नगला फत्ते निवासी किशन सिंह ने डेढ़ साल पहले अपनी दो बेटियों पुष्पा और शिवानी की शादी नगला बरी निवासी सगे भाइयों यशवीर सिंह व जयवीर सिंह से की थी। शादी के कुछ दिन बाद ही जयवीर अपनी पत्नी शिवानी के चरित्र पर शक करने लगा और उससे मारपीट भी करने लगा। शिवानी ने इससे इनकार किया, लेकिन ससुराल में किसी ने उसकी बात को सच नहीं माना। उल्टे तांत्रिक होने का दावा करने वाली गांव की ही एक अन्य महिला के कहने पर पंचायत बुलाकर अग्निपरीक्षा लेने का फरमान सुना दिया।

पहले जयवीर के हाथों पर कुछ कम सुलगे अंगारे रखे गए। जयवीर ने तुरंत ही वे अंगारे दोनों हाथों में उलट-पुलट कर नीचे फेंक दिए। इस पर किसी ने आपत्ति नहीं की। वह मामूली रूप से झुलसा था। लेकिन, बहू शिवानी से अंगारे देर तक रखवाए गए। इससे उसकी दोनों हथेलियां बुरी तरह से झुलस गईं। यह बात जब शिवानी के परिवार वालों को मालूम पड़ी तो उन्होंने शिवानी के पति, जेठ, सास-ससुर व दोनों ननदों के खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा 307 के तहत जलाकर मार देने की कोशिश का मामला दर्ज कराया। अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) आदित्य कुमार शुक्ला ने बताया कि मामले में पीड़िता के परिजनों की तहरीर पर बीती रात मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। घटना के दौरान मौके पर पंचों की भूमिका निभाने वालों और कथित रूप से तांत्रिक के रूप में इस प्रकार की अग्निपरीक्षा कराने की मुख्य आरोपी महिला की भी तलाश की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App