महाराष्ट्र सचिवालय पर आत्महत्या की कोशिश पर शिवसेना ने 'भाजपा' को कोसा, कहा- ये ‘अच्छे दिन’ के संकेत नहीं - Jansatta
ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र सचिवालय पर आत्महत्या की कोशिश पर शिवसेना ने ‘भाजपा’ को कोसा, कहा- ये ‘अच्छे दिन’ के संकेत नहीं

शिवसेना ने कहा, 'आत्महत्या के प्रयास सवाल उठाते हैं कि क्या लोगों को न्याय मिल रहा है जिसके वे हकदार हैं। नई सरकार के सत्ता में आए दो वर्ष हो गए हैं, क्या चीजें बदली हैं।’

Author मुम्बई | June 16, 2016 4:58 PM
शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे।

राज्य सचिवालय पर तीन लोगों की आत्महत्या करने की धमकी के कुछ ही दिन बाद शिवसेना गुरुवार (16 जून) को कहा कि ये ‘अच्छे दिन’ के संकेत नहीं हैं। साथ ही पार्टी ने महाराष्ट्र में भाजपा नीत सरकार की ओर से की जा रही घोषणाओं पर भी सवाल उठाए। अलग-अलग घटनाओं में 14 जून को तीन लोगों ने सचिवालय पर आत्महत्या करने की धमकी तब दी थी जब वे मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस से मिलकर अपनी शिकायत बताने में विफल रहे थे।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में संपादकीय में कहा, ‘हजारों की संख्या में किसान आत्महत्या कर रहे हैं तथा गरीब एवं बेरोजगारों ने भी आत्महत्या का रास्ता चुनना शुरू कर दिया है। सरकार को इसे रोकना चाहिए। सरकार अपनी ओर से घोषणाएं करने में जुटी है लेकिन यह जमीनी स्तर पर लोगों तक नहीं पहुंच रही है।’

इसमें कहा गया है, ‘जहां मुख्यमंत्री कहते हैं कि सरकार पूरी क्षमता से काम कर रही है और कोई भी टिप्पणी बर्दाश्त नहीं की जायेगी…. आत्महत्या के प्रयास सवाल उठाते हैं कि क्या लोगों को न्याय मिल रहा है जिसके वे हकदार हैं। नई सरकार के सत्ता में आए दो वर्ष हो गए हैं, क्या चीजें बदली हैं।’

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा गया है कि सरकार भविष्य में मंत्रालय आने वाले लोगों की मंत्रालय की सीढ़ियों पर जामा तलाशी ली जाए, या आम लोगों पर हमेशा के लिए प्रतिबंध लगा दिया जाए। लेकिन लोगों को न्याय देने का यह तरीका नहीं बल्कि है बल्कि जिम्मेदारी से पलायन है।

इसमें कहा गया है कि एक ही दिन मुख्यमंत्री के दरवाजे पर तीन लोगों की आत्महत्या की कोशिश यह अच्छे दिन के लक्षण नहीं हैं। महंगाई लगातार बढ़ रही है, इन सब का असर सरकार के कामकाज पर पड़ता है। संपादकीय में कहा गया कि गांव में, झोपड़ों में रहने वाले लोगों और खेतोंं में श्रम करने वाले लोगों को नजरों में रखकर राज चलाया जाए, राज्य में बड़ी उम्मीद से सत्ता परिवर्तन करने वाली जनता की बस इतनी ही उम्मीद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App