ताज़ा खबर
 

बीजेपी से बोली शिवसेना- दो शर्तें मानो तभी साथ लड़ेंगे चुनाव

वर्तमान में महाराष्ट्र विधानसभा में 121 सीटें बीजेपी की हैं और 63 पर शिवसेना काबिज है। बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के पास कुल 184 सीटें हैं। हालांकि शिवसेना इस बात पर सहमत बताई जाती है कि 2013 में बीजेपी ने जो सीटें जीती थीं, उन पर वह फिर से चुनाव लड़ सकती है।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे। (File Photo)

पिछले काफी समय से अकेले चुनाव लड़ने का राग अलाप रही शिवसेना ने अब सुर बदल लिए हैं। उद्धव ठाकरे की पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ मिलकर महाराष्ट्र का आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए दो शर्तें रखी हैं। सूत्रों के मुताबिक हाल में तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में हार का सामना करने के बाद बीजेपी भी कुछ नरम पड़ी है। लिहाजा आगामी चुनावों में बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन लगभग तय है। सूत्रों के मुताबिक शिवसेना ने जो दो शर्तें बीजेपी के सामने रखी हैं, उनमें पहली यह है कि राज्य के विधानसभा चुनाव 2019 के आम चुनाव के साथ ही संपन्न कराए जाएं और दूसरी शर्त यह है कि सूबे की 288 सीटों में से वह 155 पर चुनाव लड़ेगी। बता दें कि बीजेपी और शिवसेना केंद्र और राज्य दोनों सरकारों में गठबंधन में शामिल हैं। इस साल की शुरुआत में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने घोषणा की थी कि उनकी पार्टी अब अकेले चुनाव लड़ेगी।

वर्तमान में महाराष्ट्र विधानसभा में 121 सीटें बीजेपी की हैं और 63 पर शिवसेना काबिज है। बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के पास कुल 184 सीटें हैं। हालांकि शिवसेना इस बात पर सहमत बताई जाती है कि 2013 में बीजेपी ने जो सीटें जीती थीं, उन पर वह फिर से चुनाव लड़ सकती है। उन 104 सीटों में से बीजेपी ने 85 की मांग की थी। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी शिवसेना को 138 सीटें देने के लिए राजी हो गई है लेकिन अपने लिए 150 सीटें चाहती है। वहीं, इस बात का कोई इशारा नहीं है कि लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा का चुनाव भी कराया जाएगा।

बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा के लिए अगला चुनाव सितंबर-अक्टूबर 2019 में होना है। महाराष्ट्र में मौजूदा सरकार का कार्यकाल 9 नवंबर 2019 तक के लिए बाकी है, जबकि वर्तमान लोकसभा का कार्यकाल पूरा होने में महज कुछ ही वक्त रह गया है। यह 3 जून तक चलेगा। बुधवार (19 दिसंबर) को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दिन की शुरुआत में कहा कि शिवसेना के साथ बीजेपी की बातचीत जारी है और बहुत उम्मीद है कि दोनों पार्टियां 2019 का लोकसभा चुनाव साथ में लड़ेंगी। दिलचस्प बात यह भी है कि अब तक लोकसभा चुनाव को लेकर शिवसेना ने किसी प्रकार मांग नहीं की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App