ताज़ा खबर
 

कर्मचारी को चप्‍पल से पीटने वाले शिव सेना सांसद के खिलाफ एयर इंडिया ने कराई FIR, स्‍टाफ बोला- देश को भगवान बचाए

शिव सेना सांसद रवींद्र गायकवाड़ ने एयरलाइंस कंपनी एयर इंडिया के कर्मचारी की चप्पल से पिटाई की बात स्वीकार की है।

शिव सेना के सांसद रवींद्र गायकवाड़ ने माना कि उन्होंने एयरलाइंस कर्मचारी की चप्पल से पिटायी की थी। (Source: ANI)

शिव सेना सांसद रवींंद्र गायकवाड़ ने गुरुवार (23 मार्च) को एयर इंडिया एयरलाइन्स के एक कर्मचारी की चप्पल से पिटाई कर दी। यह बात खुद गायकवाड़ ने कुबूल की है। समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान उन्होंने एयर इंडिया के एक कर्मचारी को पीटने की बात स्वीकार करते हुए कहा, “हां मैंने उसे सैंडल से 25 बार मारा है।” इस संबंध में एयर इंडिया ने गायकवाड़ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। उन पर जबर्दस्‍ती फ्लाइट रुकवाने, उसे 40 मिनट तक देर कराने और एयर इंडिया स्‍टाफ को पीटने के संबंध में आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। एयर इंडिया के कर्मचारी ने अपने पत्र में कहा है कि ”अगर हमारे सांसदों का यह रवैया और व्‍यवहार है तो देश को भगवान ही बचाए।” बता दें कि रवींद्र गायकवाड़ पहली बार उस्मानाबाद सीट से चुनकर संसद पहुंचे हैं। खबरों के मुताबिक एयर इंडिया कर्मचारियों से सांसद की सीट को लेकर कहा सुनी हो गई थी।

एयर इंडिया के प्रवक्ता ने बताया कि उन्होंने मामले की जांच की आदेश दे दिए हैं और टीम गठित की है जो पूरे मामले की जांच करेगी। रवींद्र गायकवाड़ का दावा है कि उन्होंने बिजनेस क्लास की टिकट खरीदी थी पर उन्हें इकॉनमी क्लास की सीट दी गई। गायकवाड ने आगे बताया कि जब उन्होंने इसकी शिकायत की तो किसी ने इस पर ध्यान ही नहीं दिया। वहीं गायकवाड सिर्फ चप्पल से मारने की बात कुबूलने तक ही नहीं रुके। जब पत्रकार ने उनसे पूछा कि आप सांसद हैं और ऐसा काम करना आपको शोभा देता है तो उन्होंने पत्रकार को टोकते हुए, बेहद आक्रामक रवैये में कहा- “तुम क्या चाहते हो ? सांसद हूं तो क्या मैं चुपचाप गालियां सुनता?”

रवींद्र गायकवाड़ महाराष्ट्र के ओस्मानाबाद से सांसद हैं। उन्हें क्षेत्र में रवि सर के नाम से भी जाना जाता है।वहीं इस मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री अशोक गजपति राजू ने भी अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा- “देश के किसी भी नागरिक को मारपीट नहीं करनी चाहिए।” हालांकि उन्होंने इस मामले में सांसद गायकवाड पर एफआईआर दर्ज होने के सावल पर कोई जवाब नहीं दिया।

महाराष्ट्र: बॉम्बे हाई कोर्ट ने डॉक्टरों से हड़ताल खत्म कर काम पर लौटने को कहा, सुरक्षा का दिया भरोसा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App