ताज़ा खबर
 

शिवसेना ने राम मंदिर के निर्माण के लिए कानून बनाने पर जोर दिया

शिवसेना ने अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण सुगम बनाने के लिए कानून बनाए जाने पर बुधवार को जोर दिया और कहा कि 2019 में लोकसभा चुनाव के बाद संसद की तस्वीर ‘‘अनिश्चित’’ दिखती है।

Author Updated: August 22, 2018 6:18 PM
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे। (File Photo)

शिवसेना ने अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण सुगम बनाने के लिए कानून बनाए जाने पर बुधवार को जोर दिया और कहा कि 2019 में लोकसभा चुनाव के बाद संसद की तस्वीर ‘‘अनिश्चित’’ दिखती है। शिवसेना ने कहा कि यह कहना कि राम मंदिर का निर्माण आम सहमति से होगा, वैसा ही है जैसे पाकिस्तान यह कहे कि उसका कश्मीर से कोई लेना देना नहीं है और वह हिस्सा भारत का है। शिवसेना ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राम मंदिर बनने तक भगवा पगड़ी नहीं पहननी चाहिए। राजग में शामिल शिवसेना की यह टिप्पणी उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के एक बयान के बाद आयी है। मौर्य ने कहा कि जब कोई विकल्प नहीं होगा तो कानूनी रास्ते अपनाया जाएगा।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में एक संपादकीय में कहा कि पूर्व की सरकार सत्ता से बाहर हो गयी क्योंकि वह राम मंदिर मुद्दे पर आम सहमति नहीं बना सकी और न ही उच्चतम न्यायालय ने इस पर कोई फैसला दिया। इसमें कहा गया है कि 2014 में लोकसभ चुनाव में भाजपा को बहुमत मिला और उत्तर प्रदेश में उन्हें सर्वाधिक सीटें मिलीं।

संपादकीय में कहा गया है कि शिवसेना सहित कई दल चाहते हैं कि राम मंदिर बने और इसलिए सरकार को कानून बनाने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। शिवसेना ने कहा, ‘‘आज संसद में आपके पास बहुमत है। 2019 में संसद की क्या तस्वीर होगी? यह अनिश्चित है।’’ भाषा अविनाश माधव

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 केरल के लिए UAE द्वारा 10 करोड़ डॉलर की बड़ी नकदी स्वीकारने में समस्याः भारतीय राजनयिक
2 ”आतंकवाद के साथ इस्लाम का नाम जोड़ना मुसलमानों का अपमान”
3 JK: फारुक अब्दुल्ला को जूते दिखाए, वाजपेयी की प्रार्थना सभा में ‘भारत माता की जय’ कहने पर तीव्र विरोध
ये पढ़ा क्या?
X