ताज़ा खबर
 

जैन मुनि ने बीजेपी के लिए मांगे वोट तो भड़की शिवसेना, कहा- ऐसे मुनि गुंडे हैं, जाकिर नायक जैसे हैं

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा मीरा-भयंदर नगर निगम (एमबीएमसी) चुनावों में जीत हासिल करने के दो दिन बाद शिवसेना ने बुधवार को अपने सहयोगी दल पर चुनावों में 'धन और मुनि' का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया।

Author मुंबई | August 23, 2017 5:31 PM
शिवसेना नेता संजय राउत (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा मीरा-भयंदर नगर निगम (एमबीएमसी) चुनावों में जीत हासिल करने के दो दिन बाद शिवसेना ने बुधवार को अपने सहयोगी दल पर चुनावों में ‘धन और मुनि’ का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। सहयोगी भाजपा पर हमला बोलते हुए शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि पिछले रविवार को दक्षिण पश्चिम थाणे जिले के मीरा रोड-भयंदर टाउनशिप में हुए चुनावों में भाजपा ने शिवसेना के जैनियों और गुजरातियों के बीच के वोट बैंक को तोड़ने के लिए एक जैन मुनि का इस्तेमाल किया।

राउत ने यहां मीडियाकर्मियों को बताया, “चुनाव में वोट मांगने के लिए धार्मिक व्यक्ति का इस्तेमाल करना चुनाव आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन है। हमारे पास इस संबंध में टेप रिकार्डिग है और हम भाजपा के खिलाफ केंद्र और राज्य चुनाव आयोग के समक्ष शिकायत दर्ज कराएंगे।इस पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा के मुंबई से सांसद कीर्ति सोमैया ने कहा, “हमारी सहयोगी पार्टी ने एमबीएमसी में हुई हार को दिल पर ले लिया है और इसे पचा नहीं पा रही है। राउत ने कहा, “जो मुनि ऐसे फतवे जारी करते हैं, वे राजनीतिक गुंडे हैं। मैं उनकी तुलना जाकिर नायक से करता हूं। इस तरह के धार्मिक नेताओं से कानून-व्यवस्था को खतरा है।”

HOT DEALS
  • Gionee X1 16GB Gold
    ₹ 8990 MRP ₹ 10349 -13%
    ₹1349 Cashback
  • Moto G6 Deep Indigo (64 GB)
    ₹ 15783 MRP ₹ 19999 -21%
    ₹1500 Cashback

चुनाव के दौरान कथित रूप से जारी एक वीडियो संदेश में जैन मुनि को नयापद्मसागरजी महाराज को अपने अनुयायियों से यह कहते बताया गया है कि वे भाजपा को वोट दें क्योंकि ‘यही पार्टी मीरा रोड-भयंदर और पूरे देश में शाकाहार को बढ़ावा देगी। सोमवार को आए एमबीएमसी चुनावी नतीजों में 95 सदस्यीय सदन में भाजपा को 61, सेना को 23, कांग्रेस को 10 और निर्दलीय को दो सीटें मिली हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App