भक्तों के पैरों से बिजली पैदा करेगा शिर्डी संस्थान- Shirdi Institute will generate power from the feet of devotees - Jansatta
ताज़ा खबर
 

भक्तों के पैरों से बिजली पैदा करेगा शिर्डी संस्थान

प्रसिद्ध साईंबाबा मंदिर का कामकाज देखने वाला शिर्डी न्यास एक नवीन तरीके पर काम कर रहा है, जिसमें श्रद्धालुओं की पद-ऊर्जा का इस्तेमाल बिजली पैदा करने में किया जाएगा।

Author मुंबई | June 3, 2017 1:18 AM

प्रसिद्ध साईंबाबा मंदिर का कामकाज देखने वाला शिर्डी न्यास एक नवीन तरीके पर काम कर रहा है, जिसमें श्रद्धालुओं की पद-ऊर्जा का इस्तेमाल बिजली पैदा करने में किया जाएगा। अगले वर्ष होने वाले साईंबाबा समाधि शताब्दी समारोह से पहले कई परियोजनाओं और कार्यक्रमों की घोषणा करते हुए श्री साईंबाबा संस्थान न्यास (एसएसएसटी) के अध्यक्ष सुरेश हवारे ने गुरुवार यहां संवाददाताओं से कहा कि प्रस्तावित परियोजना के तहत मंदिर में ऊर्जा पैडल लगाए जाएंगे। यह मंदिर महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में स्थित है और यहां औसतन 50,000 श्रद्धालु प्रतिदिन मंदिर में दर्शन करने आते हैं।
हवारे ने संवाददाताओं से कहा, ‘करीब 50,000 श्रद्धालु प्रतिदिन शिर्डी आते हैं। हम ऊर्जा पैडल लगाएंगे, चलने पर पैडल दबेंगे और फिर वापस सामान्य हो जाएंगे। इससे ऊर्जा उत्पन्न होगी। चलने से उत्पन्न होने वाली ऊर्जा बिजली में बदल जाएगी। इस तरह पैदा होने वाली बिजली से मंदिर क्षेत्र में बल्ब जलेंगे और पंखे चलेंगे।’

उन्होंने कहा कि न्यास परियोजना के विभिन्न पहलुओं पर विचार कर रहा है। न्यास ने जिन परियोजनाओं की घोषणा की है उनमें आदिवासी तथा वंचित तबके के बच्चों के लिए आइएसएस प्रशिक्षण अकादमी शुरू करना, कैंसर अस्पताल स्थापित करना, ठोस कचरे से ऊर्जा उत्पादन, प्रतिदिन रक्तदान शिविर लगाना शामिल है। एक से 18 अक्तूबर के बीच आयोजित होने वाले ‘समाधि शताब्दी महोत्सव’ में इनका आयोजन किया जाएगा। प्रबंधन समिति ने आत्महत्या करने वाले किसानों के परिवारों की महिलाओं और छात्रों को मदद करने का भी फैसला लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App