ताज़ा खबर
 

गांधी के बगैर नहीं चलता देश, हमारे पास 3 हैं, बोले शत्रुघ्न सिन्हा, कहा- भाजपा में मंत्री छोड़िए संतरी भी नहीं हैं

आजतक चैनल पर सीधी बात कार्यक्रम में कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि बिना गांधी के देश नहीं चल सकता है। उन्होंने भाजपा पर तीखी टिप्पणी की और कहा कि यह वन मैन शो और टू मेन आर्मी है।

कांग्रेस नेता और अभिनेता शत्रुघन सिन्हा। फोटो- एक्सप्रेस आर्काइव

भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा पार्टी में रहते हुए भी सत्ताधारी दल की आलोचना करने में कसर नहीं छोड़ते थे। हालांकि जबसे वह कांग्रेस में आए हैं, अपने नेताओं के ख़िलाफ कुछ नहीं बोलते। वह अकसर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की तारीफ़ करते हैं। आजतक चैनल पर सीधी बात कार्यक्रम के दौरान भी उन्होंने गांधी परिवार की तारीफ़ की और उनकी तुलना महात्मा गांधी से भी कर डाली।

प्रभु चावला ने जब पूछा कि क्या आपका भी विश्वास है कि गांधी परिवार के बिना कांग्रेस नहीं चल सकती है? इसपर सिन्हा ने कहा कि गांधी नाम के बिना तो इस देश में कुछ चल ही नहीं सकता है। बिना गांधी के तो नोट नहीं चलता है। फिर हमारे पास तो तीन गांधी हैं। बता दें कि शत्रुघन सिन्हा का मतलब राहुल गांधी, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी से था।

वहीं जब भाजपा की बात आई तो उन्होंने कहा कि इस पार्टी में वन मैन शो और टू मेन आर्मी चलती रही है। उन्होंने कहा, ‘आप किसी भी बच्चे से पूछ लीजिए कि 5 मंत्रियों का नाम बताए। नहीं बता पाएगा क्योंकि मंत्री कोई है ही नहीं। सही मायने में कोई संतरी भी नहीं है।’

इस शो में शत्रुघ्न सिन्हा ने किसान आंदोलन पर भी अपने विचार रखे। उन्होंने कहा, मैं तो किसान आंदोलन के मित्रों को कह रहा था कि कृषि मंत्री से क्यों मीटिंग कर रहे है। मीटिंग करनी है तो वन मैन शो या टू मेन आर्मी से करें। वरना किसी के साथ कोई मीटिंग करने का फायदा नहीं है। बता दें कि भाजपा के सांसद रहते हुए भी वह कई बार पीएम मोदी और अमित शाह की आलोचना कर चुके हैं।

कांग्रेस का दामन थामते वक्त भी सिन्हा ने भाजपा को वन मैन आर्मी, टू मैन शो कहा था। उन्होंने कहा था कि भाजपा में लोकशाही धीरे-धीरे तानाशाही में बदल गई है। आडवाणी जी को मार्गदर्शक मंडल में डाल दिया गया और मार्गदर्शकों की अब तक कोई बैठक नहीं हुई। बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी सरकार के नोटबंदी के भी फैसले का विरोध किया था। उस वक्त वह भाजपा सांसद थे। कांग्रेस में शामिल होने के बाद उन्हें पटना साहिब से लोकसभा का टिकट दिया गया लेकिन वह हार गए।

Next Stories
1 मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई केस में उम्मेद पहलवान अरेस्ट, धार्मिक भावनाएं भड़काने का है आरोप
2 7th Pay Commission: यहां 16 हजार से अधिक भर्तियों पर कोरोना ने लगाया ग्रहण, जानें- किस विभाग में कितनी वैकैंसियां?
3 पश्चिम बंगाल: 300 भाजपाइयों ने छोड़ी पार्टी, गंगाजल से “शुद्ध” करके तृणमूल कांग्रेस में कराए गए शामिल
ये पढ़ा क्या?
X