scorecardresearch

मुझे कश्मीर फाइल्स देखने की जरूरत नहीं- आडवाणी का जिक्र कर बोलीं उमा भारती

कहा कि जिस सच्चाई को उन्होंने अपनी आंखों से देखा है उसे फिल्म में क्या देखना है। फिल्म में तो उतनी सच्चाई दिखाई नहीं गई होगी। इसलिए फिल्म देखने वे नहीं जाएंगी। उन्होंने बताया कि जिस दौर की यह घटना है, उस दौर में वह भाजपा के लिए संगठन में वह वहीं काम कर रही थीं।

uma bharti, farm law, farmer protest, pm modi
पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती (फोटो सोर्स: @UmaBhartiOfficial )

मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का कहना है कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म देखने की उन्हें जरूरत नहीं है। कहा कि कश्मीर की जो सच्चाई है, वह उसे हकीकत में देखी हैं. जितनी क्रूरता और गंभीरता वहां हुई है, उतनी फिल्म में दिखाई नहीं गई होगी। कहा किजिस दौर की वह घटना है, उस दौर में वह भाजपा के संगठन में काम करती थीं और इस दौरान उन्होंने उन हालातों का साक्षात में देखा, लोगों की पीड़ा महसूस की है।

दरअसल उमा भारती भिंड में स्वतंत्रता सेना वीरांगना महारानी अवंतीबाई की प्रतिमा अनावरण समारोह में आई हुई थीं। इस दौरान पत्रकारों ने उनसे ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि “मुझे कश्मीर फाइल्स फिल्म देखने की जरूरत ही नहीं है। दिसंबर 1989 में जब चुनाव जीतकर गई तो मुझे पार्टी ने कश्मीर का जिम्मा दिया था। आडवानी जी ने मुझे लाइब्रेरी में बैठाकर घंटों कश्मीर के बारे में अध्ययन करवाया कि कश्मीर की जो पहली सभा हुई थी उसमें क्या फैसला हुआ था।”

उन्होंने बताया कि “केदारनाथ साहनी जी को जम्मू-कश्मीर का जिम्मा दिया गया था, जिसमें मैं भी जाती थी। मैंने देखा कि कश्मीर के लोग कितने तकलीफ में रहे, वे बर्फ में से निकल कर आए थे और जम्मू में जहां भयानक गर्मी होती है, वहां नहरों के किनारे टेंट लगा दिए गए। उसमें कितने लोग बीमारियों से मर गए, बच्चे मर गए, स्त्रियां मर गईं, वृद्ध मर गए। कितने कष्ट उठाए, उसे मैंने देखे हैं, मुझे तो फिल्म देखने तक की जरूरत नहीं है। मैंने तो लोगों को भुगतते हुए देखा है।”

वरिष्ठ नेता उमा भारती ने कहा कि जिस सच्चाई को उन्होंने अपनी आंखों से देखा है उसे फिल्म में क्या देखना है। फिल्म में तो उतनी सच्चाई दिखाई नहीं गई होगी। इसलिए फिल्म देखने वे नहीं जाएंगी। उन्होंने बताया कि जिस दौर की यह घटना है, उस दौर में वह भाजपा के लिए संगठन में वह वहीं काम कर रही थीं। ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म 1990 के दशक में घाटी से कश्मीरी पंडितों के पलायन के मुद्दे पर आधारित है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट