ताज़ा खबर
 

बुरहान वानी गुट के आखिरी आतंकवादी का भी सफाया, हिज्बुल कमांडर लतीफ अहमद समेत 3 आतंकी ढेर

लतीफ वर्ष 2014 से आतंकी गतिविधियों में लिप्त था। वर्ष 2016 में हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर और आतंक के पोस्टर बॉय बने बुरहान वानी की 10 अन्य आतंकियों के साथ तस्वीर सामने आई थी। लतीफ इसी बुरहान वानी का साथी था।

मारे गए गए तीनों आतंकवादियों की पहचान हिज्बुल कमांडर लतीफ अहमद डार उर्फ लतीफ टाइगर, तारिक मौलवी और शारिक अहमद नेंगरू के रूप में हुई है। (फोटो- ट्विटर)

जम्मू-कश्मीर के शोपियां स्थित इमाम साहिब इलाके में सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर लतीफ टाइगर को मार गिराया। मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी लतीफ अहमद डार उर्फ लतीफ टाइगर के साथ दो अन्य आतंकी भी मारे गए। सेना ने दावा किया कि लतीफ टाइगर के मारे जाने के साथ कश्मीर घाटी में बुरहान वानी समूह के आखिरी आतंकी का भी सफाया हो गया है। सेना की उत्तरी कमान ने ट्विटर पर बताया कि मुठभेड़ में मारा गया लतीफ टाइगर हिज्बुल का शीर्ष कमांडर था। सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। दक्षिण कश्मीर के शोपियां में शुक्रवार सुबह करीब छह बजे आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई। शोपियां में सुरक्षा बलों के संयुक्त अभियान के दौरान तीन आतंकी मारे गए। घातक हथियार बरामद हुए हैं।

मारे गए गए तीनों आतंकवादियों की पहचान हिज्बुल कमांडर लतीफ अहमद डार उर्फ लतीफ टाइगर, तारिक मौलवी और शारिक अहमद नेंगरू के रूप में हुई है। लतीफ पुलवामा का रहने वाला है, वहीं तारिक और शारिक अहमद नेंगरू शोपियां के रहने वाले हैं। लतीफ वर्ष 2014 से आतंकी गतिविधियों में लिप्त था। वर्ष 2016 में हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर और आतंक के पोस्टर बॉय बने बुरहान वानी की 10 अन्य आतंकियों के साथ तस्वीर सामने आई थी। लतीफ इसी बुरहान वानी का साथी था।

बाद में सुरक्षा बलों ने आठ जुलाई 2016 को एक मुठभेड़ में बुरहान वानी को मार गिराया था। उसके बाद अब तक के विभिन्न अभियानों में बुरहान वानी गिरोह में शामिल 11 लोगों में से 10 लोग मारे गए। जबकि एक अन्य तारिक पंडित ने सुरक्षा बलों के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था। मारे गए आतंकियों के नाम हैं- सद्दाम पैडर, बुरहान वानी, आदिल खांडे, नसीर पंडित, अफ्फाक बट, सब्जार बट, अनीस, अश्फाक डार, वसीम मल्ला और वसीम शाह। आखिरी सदस्य लतीफ को शुक्रवार को ढेर कर दिया गया।

आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के एक रंगरूट को कुपवाड़ा से शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया। वह जम्मू-कश्मीर के गंदरबल जिले से लापता हो गया था और आतंकी संगठन के प्रशिक्षण के लिए कथित तौर पर सीमा पार करने की फिराक में था। प्रवक्ता के मुताबिक, ‘एक विश्वसनीय खुफिया सूचना के आधार पर सुरक्षा बलों के साथ पुलिस ने कुपवाड़ा जिले में हंदवाड़ा के चोवगल के निकट एक जांच चौकी पर शफत युसूफ मलिक को धर दबोचा और उसे हिरासत में ले लिया।’ मलिक के पास हथियार और गोला बारूद सहित कुछ अन्य सामग्री बरामद की गई है। मलिक इस हफ्ते के शुरू में अपने घर से लापता हो गया था। उसे आतंकवादी समूह हिज्बुल ने हथियार और गोला-बारूद मुहैया कराए और वह आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल होने जा रहा है। इस तरह से उसे आतंकवादी संगठन में शामिल होने से रोका गया। प्रवक्ता ने बताया कि एक मामला दर्ज किया गया है। इस सिलसिले में जांच की जा रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भागलपुर: मानव तस्कर को रंगे हाथ दबोचा, लड़कियों को दिल्ली पहुंचाने का था प्लान
2 Kanpur: ‘फानी’ के चलते हाई अलर्ट जारी, 926 जर्जर मकान खाली कराने के दिए शासन ने निर्देश
3 बेंगलुरु में वीजा एक्सपायर होने के बावजूद रह रहे 801 विदेशियों में से 57 लापता, मिलेगा ‘भारत छोड़ो’ नोटिस
ये पढ़ा क्या?
X