ताज़ा खबर
 

रजनीकांत के घर के बाहर बढ़ाई गई सुरक्षा, विरोधी तमिल समूह ने कहा-राजनीति से दूर रहो

पिछले सप्ताह अपने फैन्स से मिलने के प्रोग्राम के अंतिम दिन उन्होंने कहा था कि वह राजनीति में आ सकते हैं।

सुपरस्टार रजनीकांत के घर के बाहर तैनात सुरक्षाकर्मी।

साउथ की फिल्मों के सुपर स्टार रजनीकांत के राजनीति में आने की अटकलों के बाद एक तमिल समर्थित समूह ने उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है, जिसके बाद उनके घर के बाहर सिक्योरिटी बढ़ा दी गई है। तमिलार मुन्नेत्र पडाई (टीएमपी) नाम के समूह ने रजनीकांत से कहा है कि वे तमिलनाडु की राजनीति से दूर रहें। उन्होंने कहा कि कन्नड़ों को तमिलनाडु पर राज नहीं करना चाहिए।

पिछले सप्ताह अपने फैन्स से मिलने के प्रोग्राम के अंतिम दिन उन्होंने कहा था कि वह राजनीति में आ सकते हैं। अपने भाषण में रजनीकांत ने शुक्रवार को कहा था, “राजनीति में वरिष्ठ लोग हैं, राष्ट्रीय पार्टियां हैं, लेकिन हम क्या करें जब सिस्टम ही खराब हो, लोकतंत्र का क्षरण हो गया हो।” रजनी ने आगे कहा था, “सिस्टम को बदलने की जरूरत है, लोगों की सोच बदलने की जरूरत है, तभी देश सही रास्ते पर चलेगा।”

लेकिन रजनी ने ये भी साफ किया थाकि वो तुरंत राजनीति में नहीं आने वाले। उन्होंने कहा था, “मेरा अपना काम है, रोजगार है। आपको भी अपने काम पर जाना है। अपने घर जाइए और अपना काम कीजिए। लड़ाई का वक्त आएगा तो हम फिर वापस आएंगे।” रजनी ने अपने भाषण में जिस तरह खुद को “विशुद्ध तमिल” बताया उससे भी इस अटकल को बल मिला कि वो तमिल राजनीति में आने का मन बना रहे हैं।

इसके बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता और वर्तमान में राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सुपरस्टार रजनीकांत की निंदा की थी। मीडिया में आईं खबरों के अनुसार स्वामी ने कहा था कि रजनीकांत राजनीति से दूर रहें क्योंकि वो अच्छे पढ़े-लिखे नहीं हैं। स्वामी ने कहाथा, ‘रजनीकांत की कोई स्पष्ट विचारधारा नहीं है। रजनी कई पंथ को मानते हैं और वो किस विचारधारा को मानते हैं ये साफ नहीं है।’ उन्होंने आगे कहा था कि फिल्मी सितारे सिर्फ पढ़े हुए बयान देने में माहिर होते हैं क्योंकि संवाद किसी और शख्स द्वारा लिखे हुए होते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App