ताज़ा खबर
 

सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को दी जम्मू-कश्मीर कश्मीर जाने की इजाजत

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस ए बोबडे एवं एस ए नजीर की पीठ ने कहा कि यदि एम्स के चिकित्सक उन्हें अनुमति दें तो पूर्व विधायक को घर जाने के लिए किसी की अनुमति आवश्यक नहीं है।

Author नई दिल्ली | Updated: September 16, 2019 12:22 PM
कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद

सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 के प्रावधानों को खत्म करने के मामले से जुड़ी कई याचिकाओं पर सुनवाई हुई। कोर्ट ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को जम्मू, अनंतनगा, बारामूला और श्रीनगर जाने की अनुमति दी। हालांकि, कोर्ट ने यह कहा कि आजाद न तो कोई चुनावी रैली करेंगे और न ही कोई भाषण देंगे। उच्चतम न्यायालय ने जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय के जज से इस आरोप पर रिपोर्ट मांगी है कि लोगों को उच्च न्यायालय से संपर्क करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ा रहा है।

वहीं, उच्चतम न्यायालय ने माकपा नेता मोहम्मद यूसुफ तारिगामी को अपने गृह राज्य जम्मू-कश्मीर वापस जाने की सोमवार को अनुमति दे दी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस ए बोबडे एवं एस ए नजीर की पीठ ने कहा कि यदि एम्स के चिकित्सक उन्हें अनुमति दें तो पूर्व विधायक को घर जाने के लिए किसी की अनुमति आवश्यक नहीं है। पूर्व विधायक ने आरोप लगाया कि उनका वाहन उनसे ले लिया गया है और वह अपने घर तक सीमित रहेंगे। बीमार नेता को न्यायालय के आदेश के बाद नौ सितंबर को एम्स में भर्ती कराया गया था।

वहीं, उच्चतम न्यायालय ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला को न्यायालय के समक्ष पेश किए जाने की मांग करने वाली याचिका पर केंद्र और जम्मू-कश्मीर प्रशासन से जवाब मांगा। अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा रद्द किए जाने के बाद से कथित रूप से हिरासत में हैं। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस ए बोबडे एवं न्यायमूर्ति एस ए नजीर की पीठ ने केंद्र और राज्य को नोटिस जारी किया और राज्यसभा सांसद एवं एमडीएमके नेता वाइको की याचिका पर सुनवाई के लिए 30 सितंबर की तारीख तय की।

वाइको ने कहा कि वह पिछले चार दशकों से अब्दुल्ला के निकट मित्र हैं। वाइको ने दावा किया कि नेशनल कांफ्रेंस के नेता को ‘‘बिना किसी कानूनी अधिकार के अवैध हिरासत’’ में लेकर, उन्हें संविधान के तहत प्रदत्त अधिकारों से वंचित रखा गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 शिवसेना ने की कांग्रेस की तारीफ, कहा-वह जवाहरलाल नेहरू थे जिन्होंने विपक्षी दल के महत्व को पहचाना
2 20 साल देरी से मिला कमर्शियल पायलट लाइसेंस, पीड़ित बोला- बर्बाद हो गया पूरा करियर, कोर्ट में ठोका 98.70 करोड़ रुपए का दावा
3 एक चुनाव हो सकता है लेकिन भारत में एक देश, एक संस्कृति एक भाषा नहीं हो सकतीः जयराम रमेश