ताज़ा खबर
 

योगी सरकार के मंत्री बोले- हिंदू और मुस्लिम के बीच खाई पैदा कर वोट लेना चाहती है बीजेपी

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ने कहा कि 'जब भी मैं गरीबों के मुद्दे उठाता हूं तो वो मंदिर, मस्जिद के बारे में बात करने लगते हैं। वो हिंदू-मुस्लिम के बारे में बात करने लगते हैं।'

Author November 4, 2018 2:06 PM
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ओमप्रकाश राजभर। (express photo)

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ओमप्रकाश राजभर भाजपा पर लगातार हमले बोल रहे हैं। अब अपने एक बयान में उन्होंने फिर उत्तर प्रदेश और केन्द्र में सत्ताधारी भाजपा पर निशाना साधा है। शनिवार को ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि “इन दिनों राम मंदिर का मुद्दा इसलिए ज्यादा सुनाई दे रहा है, क्योंकि 2019 लोकसभा के चुनाव नजदीक हैं।” राजभर ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि “भगवा पार्टी सिर्फ हिंदू और मुस्लिमों के बीच खाई पैदा कर वोट लेना चाहती है।” उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर यहीं नहीं रुके और आगे कहा कि “भाजपा को अब सिर्फ राम-नाम का सहारा है। जैसे ही चुनाव नजदीक आते हैं, वैसे ही भाजपा की भगवान राम में आस्था कई गुना बढ़ जाती है। चूंकि 2019 में चुनाव होने वाले हैं तो उन्होंने राम मंदिर निर्माण की बात करनी शुरु कर दी है।”

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ने कहा कि ‘जब भी मैं गरीबों के मुद्दे उठाता हूं तो वो मंदिर, मस्जिद के बारे में बात करने लगते हैं। वो हिंदू-मुस्लिम के बारे में बात करने लगते हैं।’ राजभर ने कहा कि ‘अब उनका दिल टूट चुका है। भाजपा प्रशासन में मुझे हिस्सेदारी नहीं देना चाहती। हमारे बच्चे अच्छी शिक्षा चाहते हैं, ना कि मंदिर और मस्जिद।’ हाल ही में पीएम मोदी ने गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल की विशाल प्रतिमा का उद्घाटन किया था। उस मुद्दे पर निशाना साधते हुए भी ओमप्रकाश राजभर ने बयानबाजी की थी। राजभर ने कहा था कि ‘महापुरुषों का सम्मान होना चाहिए। लेकिन इतनी फिजूलखर्ची कर पूरे देश में प्रचार किया गया। इतने में तो मेडिकल कॉलज, इंजीनियरिंग कॉलेज खोले जा सकते थे। जिसमें लाखों बच्चे पढ़ कर इंजीनियर, डॉक्टर बनते।’

गौरतलब है कि ओमप्रकाश राजभर कई बार सार्वजनिक तौर पर भाजपा सरकार की आलोचना कर चुके हैं। हाल ही में लखनऊ के रमाबाई मैदान पर आयोजित हुई रैली में ओमप्रकाश राजभर ने भाजपा की आलोचना करते हुए कहा था कि ‘मेरा मन टूट गया है। ये हिस्सा देना नहीं चाहते।’ राजभर ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि ‘मैं सत्ता का स्वाद चखने के लिए नहीं आया हूं, गरीबों के लिए लड़ाई करने के लिए आया हूं। ये लड़ाई लड़ूं या भाजपा का गुलाम बनके रहूं? एक कार्यालय आज तक नहीं दिया। मैने तो मन बनाया कि आज इस मंच से मैं घोषणा करूंगा, आज मैं इस्तीफा देकर रहूंगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X