scorecardresearch

संजय राउत का बागियों के सामने सरेंडर, बोले- शिवसेना के सारे विधायक चाहते हैं तो छोड़ देंगे कांग्रेसी-एनसीपी गठबंधन, मुंबई आकर बात करो

एकनाथ शिंदे ने गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल का वीडियो जारी किया है जिसमें उनके साथ 42 विधायक मौजूद हैं।

Sanjay Raut
शिवसेना नेता संजय राउत (सोर्स- @ANI)

शिवसेना से बगावत करने वाले एकनाथ शिंदे ने गुरुवार को 42 विधायकों के साथ एक वीडियो जारी कर उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार पर दबाव और भी बढ़ा दिया है। इस बीच, शिवसेना सांसद संजय राउत भी बागी विधायकों के तेवर के आगे नरम पड़ते दिखाई दे रहे हैं। राउत ने कहा है कि अगर सारे विधायक चाहते हैं तो शिवसेना महा अघाड़ी सरकार से अलग हो जाएगी, लेकिन सारे बागी विधायकों को मुंबई आकर उनसे और सीएम उद्धव ठाकरे से बात करनी होगी। उन्होंने कहा कि वे (बागी विधायक) गुवाहाटी से संदेश बंद करें और मुंबई आकर बात करें।

संजय राउत ने कहा, “विधायकों को गुवाहाटी से संवाद नहीं करना चाहिए, वे वापस मुंबई आएं और सीएम से इन सब पर चर्चा करें। अगर सभी विधायकों की इच्छा है तो हम एमवीए से बाहर निकलने पर विचार करने के लिए तैयार हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें यहां आकर सीएम से चर्चा करनी होगी।” बुधवार को सीएम उद्धव ठाकरे ने भी बागी विधायकों को संदेश दिया था और कहा था कि अगर सभी विधायक चाहते हैं तो वे सीएम की कुर्सी छोड़ने को तैयार हैं। उन्होंने कहा था कि वे सामने आकर बात करें तो।

इसके पहले, संजय राउत ने कहा कि ईडी के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले बाला साहेब के सच्चे भक्त नहीं हैं। उन्होंने कहा, “हम बाला साहेब के सच्चे भक्त हैं। ईडी का दबाव हम पर भी है लेकिन उद्धव ठाकरे के साथ खड़े रहेंगे। जब फ्लोर टेस्ट होगा तो सब लोग देखेंगे कि कौन पॉजिटिव है और कौन नेगेटिव।” राउत ने यह भी कहा कि सीएम उद्धव ठाकरे जल्द ही मुख्यमंत्री आवास वर्षा में लौटेंगे, जिसे उन्होंने बुधवार को खाली कर दिया था। साथ ही राउत ने भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि इसके पीछे बीजेपी की साजिश है।

दूसरी तरफ, शिंदे लगातार शिवसेना पर दबाव बनाए हुए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुरुवार को मुंबई से तीन और विधायक गुवाहाटी पहुंच रहे हैं। हालांकि, एकनाथ शिंदे ने अपने अगले कदम के बारे में स्पष्ट नहीं किया है और उनका कहना है कि वे सभी लोगों से बात करने के बाद इस पर कोई फैसला लेंगे।

उधर, महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति पर गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि महाराष्ट्र के नेता देवेंद्र फडणवीस और पार्टी के सभी केंद्रीय नेता इस पर नजर रखे हुए हैं। वह (देवेंद्र फडणवीस) राज्य के हित में निर्णय लेने में सक्षम हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट